#khushnama

1 posts
  • lafzgiri 215w

    फ़लसफ़ा

    जुदा हैं वो हमसे, यह गम कुछ कम नहीं,
    दिल के दरवाज़े पे आज भी दस्तक है उनकी,
    यह फ़लसफ़ा जीने के लिए मुक़मल सही...

    ©lafzgiri