#kavigiri

30 posts
  • durgesh_chouhan 109w

    शिक्षित-शहर

    बहुत पढ़ लिख गया है
    शहर मेरा
    गांवों को अब वो
    गंवार कहता है
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 120w

    अब भीड़ में कहीं खो सा गया हूं
    न जाने किस तलाश में निकला था
    #मैं #हिन्दी #hindi #hindiwriter #poem #poetry #twoliner #writers #hindiliner #khayal #mirakee #thought #sunday #kavi #kavigiri @hindiwriters @laughing_soul

    Read More

    मैं न रहा

    मैं न रहा अपने जैसा
    बन गया मैं भी
    "औरों के जैसा"
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 122w

    झूठ का ही मैं सत्य हूं
    सत्य का ही मैं शिव हूं
    हां मैं सत्य का ही शिव हूं
    #hindi #hindiwriters #poem #poetry #story #twoliner #shiv #mahakaal #shivji #bholenaath #writer #kavigiri #writersnetwork @hindiwriters

    Read More

    मैं शिव हूं

    शुन्य का आरंभ हूं
    अनन्त का अन्त हूं
    रवि की ही ताप हूं
    शशि का ही शीत हूं
    शान्त का मैं शोर हूं
    अन्ध का प्रकाश हूं
    काल का ही भूत हूं
    काल का ही भविष्य हूं
    वेदों का ही ज्ञान हूं
    पुराणों का ही शलोक हूं
    खुद का ही अवतार हूं
    खुद में ही संपूर्ण हूं
    खुद में ही मैं शेष हूं
    सती का ही शिव हूं
    महाकाली का ही महाकाल हूं
    झूठ का ही मैं सत्य हूं
    सत्य का ही मैं शिव हूं
    हां मैं सत्य का ही शिव हूं
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 129w

    #हंसता-गुस्सा
    भीड़भाड़ में चीख को दबा लिया मैंने
    लोग कहते हैं बहुत सुधार लिया ख़ुद को मैंने
    #alwaysmile #हिन्दी #hindi #hindiwriters #writersnetwork #poem #poet #kavigiri #twoliners #hardworking #smile

    Read More

    हंसता गुस्सा

    एक हुनर ऐसा भी सीख लिया मैंने
    देख गुस्से में भी मुस्कुराना सीख लिया मैंने
    तू कहा करता था चुप रहा कर भीड़ में
    देख भीड़ में भी चीख़ों को दबा लिया मैंने
    जो सुना करता था कल तक बस खुद की
    देख सीख लिया सुनना बातें हजार लोगों की
    न जाने क्यों ढूंढे नहीं मिलता
    देख हवा में भी मेरे वाला शोर नहीं मिलता
    भीड़भाड़ में चीख़ों को दबा लिया मैंने
    लोग कहते हैं बहुत सुधार लिया ख़ुद को मैंने
    एक हुनर ऐसा भी सीख लिया मैंने
    देख गुस्से में भी मुस्कुराना सीख लिया मैंने
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 132w

    सुना है एक ख्वाब बस
    एक इम्तिहान में रह गया

    #इम्तिहान #परीक्षा
    #हिन्दी
    #hindi #hindiwriters #writers #writersnetwork #result #poem #poetry #twoliners #storyteller #kahani #kavigiri #mirakee #mirakeewriters @hindiwriters @writersnetwork @laughing_soul

    Read More

    #Result

    बुलंदियां तुझे छूने को एक ख्वाब बैठा रह गया
    सुना है वो बस एक इम्तिहान में रह गया
    एक छोटी-सी नींद थी उसकी
    बस बड़ा-सा ख्वाब था उसका
    कुछ बचाया तो कुछ लुटाया था उसने
    हर बचाया लम्हा लुटाया इम्तिहान में उसने
    बात वो रोशन ज़हान करने की करता था
    बस इम्तिहान बार-बार देने से डरा करता था
    ऐ ख्वाब तुझे एक बात बतलाता हूं
    इम्तिहान तो नाम है बस जिंदगी का
    तुझे मैं इम्तिहान से रूबरू करवाता हूं
    यहां तो हर ख्वाब इम्तिहान दिया करता है
    तू ही न जाने क्यों बस इम्तिहान से डरा करता है
    बुलंदियां तुझे छूने को एक ख्वाब बैठा रह गया
    सुना है वो बस एक इम्तिहान में रह गया
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 133w

    आज हिन्दी को ख़ुद से
    परिचय करवाया है
    #हिन्दी #हिन्दी_दिवस
    #परिचय
    #hindi #hindiwriters #writersnetwork #halfnight #hindidiwas #sunday #story #kavigiri #storyteller #kahani #twoliners #pen #poem #poetry @hindiwriters #mirakee @writersnetwork @laughing_soul @mirakee @mirakeeworld

    Read More

    हिंदी का परिचय

    ऐ हिंदी चल तुझे तेरा देश दिखलाता हूं तू हे हिन्दुस्तान की,
    तुझे तेरी सौतन से मिलवाता हूं,
    देख हिन्दुस्तानियों को,
    तुझसे कष्ट कितना है हो रहा,
    तेरे आंगन का बच्चा-बच्चा,
    तेरी सौतन के बोल बोल रहा,
    सुर्य की किरणों से,
    रात के चांद की पुजा रही हो तुम,
    देख संस्कार तेरे पांव छुने के,
    आजकल नमस्ते-नमस्ते है बोल रहे,
    जितनी सरल तेरी बिंदी है,
    वैसे ही सुन्दर औरों में तेरी गिनती है,
    तेरे राम-रहीम को छोड़,
    महफ़िलो में अंग्रेजी कविओं का गुणगान हो रहा,
    नींव हे तेरी संस्कृत से,
    देख आंगन में तेरे कोई पराई भाषा का बीज है बों रहा,
    बांस की बांसुरी तेरी कहीं खो-सी गई,
    जबसे अंग्रेज़ी सीतारों ने जगह है लें ली,
    मुझे थोड़ा माफ़ कर देना तेरा अस्तित्व कहीं है खों रहा,
    तू मात्र भाषा नहीं हिन्दुस्तान की,
    तू भावना है इस देश की,
    ऐ हिंदी चल तुझे,
    तेरा देश दिखलाता हूं तू हे हिन्दुस्तान की
    तुझे तेरी सौतन से मिलवाता हूं,
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 137w

    देखें है मैंने कुछ लोग ऐसे भी
    समुन्दर-सा ज्ञान रखा करते हैं
    पर सोच नाले-सी रखा करते हैं

    #हिन्दी #hindi #writers #writersnetwork #kavigiri #poem #poetry #kahani @hindiwriters @reetey @writersnetwork @laughing_soul

    Read More

    अ-ज्ञानी

    किताबें ढ़ेरों पढ़ कर भी
    संस्कारी न हो पाए
    बंगलों में रह कर भी
    बस्ती वालों सा न हो पाए
    अमीर बटुए से हुए तो क्या हुए
    साहब आप दिल से अमीर न हो पाए
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 138w

    मैंने तो
    सादगी को तो आज भी
    अकेले में मुस्कुराता देखा है
    #hindi #hindiwriters #writersnetwork #इश्क #हिन्दी
    #kavigiri #writers #twoliner #poem @hindiwriters @writersnetwork @reetey

    Read More

    दोगला इश्क

    इश्क तु बड़ा दोगला है
    सुना है तु चेहरों का हुआ करता है
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 138w

    #अंधेरा (भीड़)
    #जुगनु (ख़ुद)
    भीड़भाड़ में खुद की तलाश जारी है
    #हिन्दी #writers #writersnetwork #poem #poetry #kavita #twolines #fourline #storyline #hindi #searching #talash #kavigiri #words @hindiwriters @hindikavyasangam @poem_words @laughingsoul

    Read More

    तलाश

    आज फिर कोई
    कागज़ की कश़्ती लिए समुन्दर में उतरा हैं
    लगता है आज फिर कोई
    अंधेरे में जुगनुओं की तलाश में निकला हैं
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 139w

    भेड़ बकरियां तो बस मै-मै किया करती है
    हर तरफ बस ज़मानें में "मैं-मैं" का ही तो शोर है
    #मैं_ही_हूं
    #अहकांर
    #hindi #hindiwriters #writersnetwork #writer #kavigiri #twoliner #poem #poet #kavita
    #mirakee @hindiwriters @writersnetwork @hindikavyasangam @reetey @laughingsoul

    Read More

    मैं ही हूं

    बस ज़मानें में
    "मैं ही हूं" का शोर है
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 138w

    हे कुछ लोग ऐसे भी
    ऐब दुसरो के गिनाएं फिरते है
    और खुद बेलिबास में घुमा रहा करते है
    #हिन्दी #writers #writersnetwork #poet #poetry
    #twoliners #kavigiri @hindiwriters @laughingsoul

    Read More

    बेमतलब लिबास

    वाह रे इंसान
    बात ज़माने को बदलने की किया करता है
    और ख़ुद बेमतलब के लिबास में रहा करते है
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 140w

    इश्क करने की भुल तो कर लो
    पर हिचकियों कभी सिसकियां न होने देना
    #हिचकीं
    #hindi #hindiwriters #writesnetwork #love #poetry #twoliners #liner #kavigiri #kavita @hindiwriters @writersnetwork @laughingsoul

    Read More

    इश्क की हिचकीं

    बेशक इश्क करो ऐसा
    के हिचकियों में इश्क तब्दील हो जाये
    के सिसकारियों में तेरा इश्क न बदल जाये
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 140w

    ऐ हार तु न जाने क्यों कमज़ोर रह जाया करती हैं
    जीत तो तेरे से आज भी हारने से कत्तराया करती हैं

    #हार #hindi #hindiwriters #writersnetwork #winner #losers #nevergiveup #giveup #poem #twoliners #poetry #kavita #kavigiri @hindiwriters @writersnetwork @laughing_soul

    Read More

    मुठ्ठी भर हार

    ऐ हार तु नाराज़ न हो
    मैं तेरे लिए मुठ्ठी भर जीत लाया हूं
    एक पल ही तो तु पीछे रही थी
    ऐ हार देख तुझे मैं जीत कर साथ लाया


    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 130w

    काश,
    हमारे पास भी कोई कृष्ण सा जरूर होता,
    #hindi #hindiwriters #kavya #writersnetwork #poem #twoliners #kavigiri #mahabharat #krishna #gita @hindiwriters @laughing_soul

    Read More

    अर्जुन-कृष्ण

    डरता हूं मैं हे पार्थ राह भटकने से मैं डरता हूं
    न होता साथ तेरा पार्थ तो मैं चलने से भी डरता हूं

    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 140w

    होली की बहुत-बहुत शुभकामनाएं,
    चल होली के रंग में दुश्मनों को,
    यारी के रंग में रंगते है,
    #हिन्दी #rang #holi #happyholi #hindi #hindiwriters #writersnetwork #होली #twoliner #poem #poetry #kavigiri #wishes #writers @hindiwriters @reetey

    Read More

    होली के रंग

    लाल,पीले या गुलाबी रंग में रंग जाना
    इस होली में ज़रा खुद के रंग में रंग जाना
    होली है यारा दुश्मन को भी ज़रा लाल रंग लगाना
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 141w

    महंगा कुछ न ला सका
    बस सस्ता तोहफ़ा लाया हूं
    #तोहफ़ा #hindi #hindiwriters #writersnetwork #writers #gift #rose #poem #poetry #twoliners #storytellers #kavigiri #kavita #rose #roseday

    Read More

    सस्ता तोहफ़ा

    जेब में जितना कुछ था
    उतने का गुलाब लाया हूं
    कोई महंगा तोहफ़ा न ला सका
    पर एक गुलाब मैं साथ लाया हूं
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 145w

    सोच ज़रा आख़री पल हो
    #हिन्दी
    #hindi #hindiwriters #writersnetwork #writers #kavigiri #lasttime #life #theend @hindiwriters

    Read More

    आख़िरी शब्द

    कलम भी थम सीं गई है जब से
    पता चला है आख़िरी शब्द है अब से
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 145w

    आज तिनके को तूफान से लड़ाया है,
    हार अग़र मानी होती तिनके ने,
    तुफ़ान कब का ले चला होता आसमां में,
    #हारनहींमानी
    #हिन्दी #hindi #hindiwriters #writers #writersnetwork #twoliner #storyteller #kavigiri #kavigiri #poem #poetry #story #kahani #nevergiveup @hindiwriters

    Read More

    #NEVERGIVEUP

    उस तिनके को देख तुफान खड़ा रहा गया
    तिनका छोटा-सा देख तुफान आगे चल बढ़ा
    देख तुफान हौसला मेरा पहाड़-सा खड़ा रहा
    तु तुफान था उखाड़ फेंका तुने ज़हान मेरा
    तिनका था पर हौसला मेरा पहाड़-सा खड़ा रहा
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 146w

    यार की शादी

    आज मेरे यार की शादी हैं
    का़यनात को कुछ यूं सजाया हैं
    रात को नींद की प्याली पिला थोड़ी देर जगाया हैं
    आसमां के तारों से जमीं में आतिशबाज़ियां करवाई हैं
    जन्नत के फरीशतों को मैंने दावत में जमीं पर बुलाया हैं
    तेरी महफ़िल को मयखानों से नहीं चाहने वालों से सजाया हैं
    इस खूबसूरत पल को बस एक लम्हे में कुछ यूं क़ैद कराया हैं
    सुन सूरज को गहरी नींद सुला थोड़ी देर-सवेर जगाया हैं
    ©durgesh_chouhan

  • durgesh_chouhan 146w

    फरवरी में दिखावे बहुत हुआ करते हैं,
    यूं ही नहीं महिनों ने दिन कम किये हैं,
    #valentine #valentineweek #valentineday #love #14feb #hindi #hindiwriters #writers #writersnetwork #kavigiri #इश्क़ #twoliners #poem #poetry @hindiwriters @writersnetwork

    Read More

    फरवरी

    ये फरवरी की तासीर ज़रा कमजोर हुआ करती हैं,
    ये इश्क़ कम दिखावें ज्यादा किया करती हैं

    ©durgesh_chouhan