#jeevan

146 posts
  • parentscutie 7w

    Humsafar- meri jeevan

    Teri aawaz mei bhi nahin,
    Teri khamoshi mei bhi rehna chahti huin
    Teri dhadkan mei bhi nahin,
    Teri aatma mei bhi rehna chahti huin
    Terey vartaman mei bhi nahin
    Terey jeevan ki yaatra mein saath rehna chahti huin,
    Tu mera jeevan hi nahi, saans dhadkan, sub ho
    Mein terey saath rehna chahti huin
    Har pal toh nahin
    Lekin Jis pal tere paas,uss pal terey saath bitana chahti huin
    Oh humsafar.... Terey saath rehna chahti huin
    ©Sudhinmanish

  • dobriyalpriya 11w

    Duniya se hatash..
    Bss tere paas
    Kadam bdhte jaa rahe hai..

    Haeee ye jeewan roopi maya..
    Kyu apni oor uljha rahi hai..
    Kyu aakrshit kr rahi hai.
    Raah se mujhe bhtka rahi hai

    Es maaya jaal se door..
    Bss tere pass
    Sb bhoolkar mujhe aana hoga
    Sb bhulakar mujhe aana hoga
    ©dobriyalpriya

  • anamikappp 18w

    Annoying कष्टप्रद

    मन मे ईर्ष्या और अहंकार =कष्टप्रद जीवन




    ©anamikapppppp

  • _saloni16mishra_ 19w

    चल रही हैं राहें,
    मौसम भी बदल रहे,
    हवाएं तो गा रही थी,
    पतझड़ पर लड़ पड़े,
    दिन के ढलते शाम बताओ क्यों आई,
    वक़्त के हाथों मेरी लगाम किसने थमाई,
    खेल रहा जीवन था,
    वो तो यादों में बह गया,
    आया है जो आज मेरा वो तो विवादों में रह गया,
    आज न जी कल के लिए परेशान हूँ,
    बीता है जो उसे सोचकर हैरान हूँ,
    जीवन कहते हैं क्या इसे हीं,
    जिसमें जीते हुए भी बेजान हूँ।
    ©_saloni16mishra_

  • agyaanee 19w

    जीवन

    दुख में भी जो मुस्कुराए,
    वही जीवन है,
    मौत को भी जो आँखें दिखाए,
    वही जीवन है।

    सूखी, बंजर ज़मीन पर,
    नव-अंकुर सा, जो पनप जाए,
    वही जीवन है।

    झटक-कर किनारे की ऊँगलियाँ,
    खुले सागर में, जो कश्ती ले जाए,
    वही जीवन है।

    अंतर्मन के अंधकार में,
    नव-उमंग का, जो दीप जलाए,
    वही जीवन है।

    हौसले की, दमदार फूंकों से,
    गीली लकड़ियाँ भी, जो सुलगाए,
    वही जीवन है।

    दुख में भी जो मुस्कुराए,
    वही जीवन है,
    मौत को भी जो आँखें दिखाए,
    वही जीवन है।

    -अज्ञानी-
    ©agyaanee

  • go4sandeep 22w

    खुशी

    खुश रहना,मजबूरी नहीं जरूरत है ।
    क्योंकी ये दुनिया बहुत खूबसूरत है ।।

    अगर जीवन में हो आगे बढ़ना, तो हमें
    सिखना ही होगा, हर ग़म को पिछे छोड़,
    खुश रहना  ।।

    ©go4sandeep

  • go4sandeep 22w

    Motivational

    सफ़र अधूरा नहीं छोड़ते ।
    दोस्तों को तनहा नहीं छोड़ते ।।
    जीवन की राह कठिन है।
    जीत का भरोसा नहीं छोड़ते।।
    सफलता मिलेगी जरूर।
    हौसले का दामन नहीं छोड़ते।।
    राह कितनी भी हो कठिन ।
    सफ़र को अधूरा नहीं छोड़ते ।।

    ©go4sandeep

  • the_ashwani_mishra 23w

    मुखौटा।।

    रँगमंच का वो तमाशा मुझे कतई नही भाता है हक़ीक़त से परे हर सख्श अपना किरदार निभाता है
    नही फर्क पड़ता कि तुम्हारी वाकपटुता क्या है
    नही फर्क पड़ता कि तुम्हारा प्रयोजन क्या है
    सर्वश्रेष्ठ बनने की चाह मे वो मनुष्यत्व को झुटलाता है
    वो मुखोटा ही तो है जो खुद को खुद से छिपाता है अभ्यंतर लुके असुर को भी परवरदिगार दिखाता है
    वो आनन को ढके मुखोटा ही तो है जो लोलुपता का स्वाभाविक अर्थ सिखाता है।।
    ©अश्वनी मिश्रा।।

  • woohoo 25w

    युद्ध

    बाहरी जीवन के युद्ध से लड़ते लड़ते मालूम ही न पड़ा, आतंरिक जीवन के युद्ध से कितने दूर चले आये!
    ©woohoo

  • dharmraj_ansh 29w

    फुरसत के पल

    फुरसत के पलों में जीने की, तुम बात न करना ऐ साथी...
    फुरसत आते ही जीवन में, मैं आलस से भर जाऊंगा
    इक पग भी चलूंगा ना श्रम से, मैं जीते जी मर जाऊंगा
    अंकुर जो उगा है आंगन में, झुलस जायेगा सावन में
    यह देख तुम अश्क बहाओगी, अकेले क्या कर पाओगी
    हो ज्वाला से प्रेरित फिर भी, बुझ जायेगी जीवन बाती...
    फुरसत के पलों में जीने की, तुम बात न करना ऐ साथी।3।
    ©dharmraj_ansh

  • dharmraj_ansh 30w

    फुरसत के पल

    फुरसत के पलों में जीने की, तुम बात न करना ऐ साथी...
    मैं फुरसत में जब आऊंगा, तो तुमसे दूर हो जाऊंगा
    न तुम ही कुछ कर पाओगी, न मैं ही कुछ कर पाऊंगा
    जब रात घनेरी आएगी, सारी दुनिया सो जायेगी
    फिर आँखें चार होंगी अपनी, और नज़र तेरी झुक जायेगी
    यूं देख तुम्हारी सुंदरता, ईर्ष्या से चांदनी शरमाती
    फुरसत के पलों में जीने की, तुम बात न करना ऐ साथी।2।
    ©dharmraj_ansh

  • sumit_das 31w

    माँ बाबा

    माँ बाबा कोई शब्द नहीं
    यह एहसास हे।
    यह मनुष्य नहीं
    यही विश्वास हे।
    ज़िंदगी इन्हीं के चरणों में शुरू
    और यहीं खाक हैं।
    ©Sumit_Das

  • aghora 33w

    जीवन।

    खोने को पास कुछ भी नहीं
    केवल तू पा सकता है।

    जीवन तो यूं कंकड़ माटी है
    चट्टान तू रच सकता है।

    ©aghora

  • vikkoo 34w

    मंज़िल की काहे फिकर है,
    जीवन ही बस सफर है...
    बस इतना पहचान ले,
    कौन सी तेरी डगर है...
    और चलता जा अपनी धुन में
    हर कदम पे तेरा ही घर है...

    ©vs

  • sirfsadharan 36w

    सजा

    कुछ केह दुं या कुछ ना कहूं तुझे ।
    ए दिल तू ही बता क्या सजा दूं तूझे।
    ©sirfsadharan2811

  • mayank_333 52w

    सफ़र ए ज़िन्दगी

    ज़िंदगी में सब कुछ पूरा नहीं होता
    पर हर ख्वाब अधूरा नहीं होता

    वक़्त लगता है हर चीज में जैसे
    सूरज के ढलने पर ही चांद रोशन होता

    कीमत हर चीज की होती है वरना
    एक टुकड़ा रोटी के लिए मजदूर ना रोता

    ज़माना बदल चुका है वरना अबतक
    इतनी द्रौपदी का चीर हरण ना हुआ होता

    ज़िन्दगी में हर लम्हों का होना जरूरी है
    कड़वा ना होता तो मीठे का क्या होता

    हर पल का अंत जरूर होता है जैसे
    तूफान के बाद सन्नाटा जरूर है होता

    कोई आप से नफ़रत नहीं करता है
    आप उस काम को कर, देख ये जलता है

    भाप जुटाने पड़ते है बादल को भी वरना
    बारिश का मज़ा इतना नमकीन ना होता
    ©mayank_333

  • vishnuuu_x 54w

    【Happiness is life】

    Two elderly men were in a hospital room.
    One could get up but the other could not get up.
    The one who could get up,
    had a window open outside
    The elder would sit up and describe the scene outside to another elder who could not get up.
    Vehicles running on the road,
    people running for work.
    How does he tell the nearby park how the children are playing?
    How are young couples sitting hand in hand?
    How are the youth exercising, etc. etc.….
    The second elder kept his eyes closed,
    lying on his bed and enjoying those scenes.
    He also talks very well to all the doctors and nurses of the hospital.
    Many months passed like this,
    One day when the nurse with morning shift came, she saw that the elderly was not up at all, and when Ars tried to wake her up, it came to know that he was asleep.
    After the necessary action,
    the second elderly person was empty,
    He became very sad.
    Well, he wished that he be shifted to a bed of neighbors.
    Now the elderly was near the window,
    he thought, let's try and see the scene outside today.
    After a lot of effort he woke up with the help of elbow and looked out
    Hey, there was no wall outside, no road, no park, no open air
    When he called the nurse and asked, the nurse told that this window opens towards this wall.
    The elder said but…
    He used to tell me new scenes every day.
    The nurse smiled and said that this was his perspective of life, he was blind from birth.
    Due to this thinking, he was fighting a disease like cancer for the last 2-3 years.

    Summary: Life is the name of a vision, our happiness is hidden only in sharing countless happiness with others.

    (Share happiness more and more, happiness will be returned.)

    © vishnuuu_x

  • inking_soul 55w

    ना आना था मुझे यहां
    अब यहां से ना जाना है
    जीवन का ये खेल अजीब
    अजीब ये सफरनामा है

    कुछ गीत गुनगुनाये थे
    कुछ धुन को नाच नचाना है
    कभी सबसे ही रूठ जाए
    कभी खुदको भी मनाना है

    कभी सब अपने से लगते है
    कभी परछाई को पराया माना है
    कभी हर कोशिश में जीत लगे
    कभी सब हार का बहाना है

    पर वक़्त बेवक्त दिखलाता
    झूठे सच्चे ये खेल हमे
    कभी बीत जाए दिन कयी
    कभी कटते नहीं चंद लम्हे

    तब भूल कर फिर हदें सभी
    खुदको ऊँचा उड़ाना है
    ना हार कोई, ना जीत कोई
    बस इसी को जीवन माना है

    #jeevan #life #lifepoem
    @mirakeeworld @mirakee @mirakeewriterwork #poetry #poem #hindipoem #hindipoetry

    Read More

    Jeevan

    ..तब भूल कर फिर हदें सभी
    खुदको ऊँचा उड़ाना है
    ना हार कोई, ना जीत कोई
    बस इसी को जीवन माना है..
    ©inking_soul

  • vikkoo 58w

    "कुछ ऐसी भी बरसातें आयीं
    इठलाते बलखाते आयीं
    ना केवल प्यास बुझाते आयीं
    जीवन मलंग सिखाते आयीं
    कुछ दिल में गीत जगाते आयीं
    रोम रोम झनकाते आयीं
    कुछ कोई दर्द डुबाते आयीं
    कुछ किसी की याद दिलाते आयीं
    कभी कोई आग बुझाते आयीं
    कभी कोई ज्वलन जगाते आयीं
    कुछ हल्के से मुस्काते आयीं
    कुछ अन्हद नाद सुनाते आयीं
    कुछ इश्कों की सौगातें लायीं
    कुछ तन्हाई में डुबाते आयीं
    कुछ ऐसी भी बरसातेंं आयीं
    जो छुपते और छुपाते आयीं
    जब जब थकने लगा था दिल
    धीरे से कदम बढ़ाते आयीं
    जब हार मानने लगता मन
    फिर जीना इसे सिखाते आयीं
    लोग आए और लोग गये
    बरसातें साथ निभाते आयींं"

  • kelvinchippu98 77w

    #moneliner #mirakee #mirakee #writersnetwork #life #diary #motivation #memories ,#mallu ,#chinthakal#jeevan #ormakal
    # jeevan#bittermemories/ #jeevitham
    Translation :Sometimes I will go back to my bitter memories as they taught me to live

    Read More

    ചിലപ്പോഴെങ്കിലും കയ്പേറിയ ഓർമകളിലേക്ക് ഒരു തിരിച്ചുപോക്ക് പതിവാണ് കാരണം ആ കയ്പേറിയ ഓർമകൾ ആണ് ജീവിക്കാൻ പഠിപ്പിച്ചത് .