#injured_pieces

39 posts
  • _paakhi_ 29w

    Roun kyu uske liye
    Jiske liye muskura sakti hu
    Jab khushiya likhi hi h 4 paal ki
    To khamiyon m kaise zaya kar sakti hu
    ©_paakhi_

  • _paakhi_ 90w

    तू रुकती नहीं है

    जस्बा है तू,
    तू शहादत है,
    तेरी सुन्दरता तेरे चरित्र की लिखावट है।
    तेरे नैन चक्षु जो काले है,
    लगता है तेरे किसी शुभचिंतक की करतूत के प्रतिबिंब सारे है।
    पर तू रुकती नहीं है,
    तू रुकना नहीं।।
    तू रुकती नहीं है, तू रुकना नही ,
    हुनर है तू ,गुम होना नही।
    काबिल है तू बैठना नहीं ,
    दिल ही दिल घुटकर मारना नहीं ।
    याज्ञसेनी तू ,सुन द्रौपदी
    सौ कौरवों से तू डरना नहीं।
    तू रुकती नहीं है ,तू रुकना नही
    फिर बहकर तू , तू सूखना नहीं।
    तेरे आसू के समुन्दर में उबाल तुझे ही लाना है,
    तो चुप चाप बैठकर तू सुनना नही।
    तोता नहीं ,कोयल है तू
    पिंजरे में कैद होना नही।
    ये मर्यादाएं तेरे काम की नहीं,
    तू उड़ने के लिए बनी है, तू झुकना नहीं।
    तू गौरी का पवित्र रंग है ,
    तो लक्ष्मी का विस्तार सारा,
    विडम्बना देख, सरस्वती होकर भी तू ज्ञान से वंचित रही ।
    तेरे कृष्णवर्ण को मुंह काला समझने की जो गलती करे ,
    अब उठ स्वयं, खड़ग उठा ,क्यों इन दरिंदो से डरे।
    तेरे स्वाभिमान की रक्षा करने के लिए
    तुझे धूल से उठना होगा,
    अपने नजरो में झुकी,
    तुझे खुद में उभरना होगा।
    तुझे खुद में उभरना होगा।।
    ©_paakhi_
    (परिधी जोशी)

  • _paakhi_ 105w

    Father

    Father's are the universal answer
    To the Princess he raised
    To the daughter he praised
    To the power he made
    To the love he gave

    Father's are the universal answer
    To the successful woman standing in front of you
    To the girl with wings
    To the girl who is boundless
    To the one he made blameless
    To the one he created not to be nameless

    Father's are the universal answer
    To the boy who is raised to be a gentleman
    To the man who respects his woman
    To the man who knows what is meant to be a man

    Father is a universal answer
    To the sacrifices he made
    To the sacrifices if needed his son would easily make
    But not compromise he would never let his girl make
    Happy father's day papa..
    ©_paakhi_

  • _paakhi_ 112w

    अँधेरा कितना है किसने देखा
    ध्यान तो वही गया जहाँ उजाले की चकाचोंध थी
    ©_paakhi_

  • _paakhi_ 113w

    वतन

    तू सनम तू खुदा तू दिलो जान मेरा
    है तुझपे निसार हर एक अरमान मेरा
    में खाकी से खाक भी हो जाऊ अगर
    तो भी चूका न पाउ वतन में एहसान तेरा

  • _paakhi_ 113w

    नसों में तमन्ना दौड़े है
    तुझपे निसार होने की
    दुआ करता हूँ हिन्द के लिए
    ज़ार ज़ार होने की
    में वतन की मिटटी में बन के खुशबू
    जज़्ब हो जाऊ अगर
    मुझे महसूस करना मेरी शहीदी के बाद यारो
    वक्त आने पे सर कटाने की कुव्वत रखता हूँ
    में हिन्द का परचिन्दा शहीदी की ज़ुर्रत रखता हूँ
    मिला मकसद मुझे महफूज़ रखने का इसे
    इसी मकसद के लिए दम निकले ऐ खुदा मेरे
    तेरा आशिक़ हूँ तू बेहता मेरे नस नस में मेरे
    बन के हिंदुस्तान दिल में ऐ खुदा मेरे

  • _paakhi_ 114w

    Vibrant colours
    In foggy eyes
    Chasing dreams
    Without a fright
    Darkness of sorrow leaving behind
    Here stand with bow in my shoe tie
    ©_paakhi_

  • _paakhi_ 115w

    Truth we shade off

    Truth we are told less often is life is just beginning of stages of death.
    ©_paakhi_

  • _paakhi_ 116w

    To someone very special

    Dear you
    Daughter to your lil one
    Here I confess
    Love evolves
    It never degrades
    People come and go
    Feelings stay
    Soul transforms
    But never betrays
    Emotion wraps
    Pearls of memories
    Here I stand behind
    Evocating the souvenir
    Holding piece of your saree
    This little things lasts long
    Leaving impact on my soul
    Beautiful lady like Snow White
    Your presence in ambience
    Leaves a smile
    You are strong
    Perfect synonym
    I adore you woman
    My ancestress
    ©_paakhi_

  • _paakhi_ 117w

    The time you weren't frightened of fear was the time fear frightened fear itself.
    ©_paakhi_

  • _paakhi_ 119w

    Ha to mera naam
    Abhi benaam h
    Khwaish gumnam h
    Sapne behal haal h
    Ha m thodi dabi hui
    Par mujhe vo swikaar h
    Pank kaid h
    Udna chahu to mujhme bhed h
    Taaref ye kam hi hoti h
    Ha magar galtiya mujhe roz khudme bhigoti h
    Are are insaan hi hu
    Ha magar naam
    Abhi Benaam h
    Khwaish meri par lagam h
    Galat mat samjhiyega
    Vo mujhe jante h
    Meri tehsib ko roz sawarte h
    Mujhse par nadaniya nhi hoti
    Ha magar Meri galtiyon par bhi vo mujhe sambhalte h
    To m ek ladki hu
    Itna to aap abhi tak pehnchante h
    Hna
    Meri chahte bahot badi h
    Par ab use mene ek chote se kamre k chote se kone m jakadna sheek liya h
    Are ladka nhi ladki hu kab tak udugi hmm??
    Tarakki ki naav m kab tak tereugi
    Darasal baat ye h
    Ki ye meri kabhiliyat ko jante h
    Kis mukam ko hasil kar sakti hu ye pehchante h
    Isliye mujhe parto m rakhkar
    Hifazat karne ko apna farz mante h
    ©_paakhi_

  • _paakhi_ 128w

    अक्सर वही दिए हमारा हाथ जलाते है|
    जिन्हें हम हवा से अक्सर बचने की कोशिश करते है||

  • _paakhi_ 129w

    नए साल की हवा ये रूहानी भी अपनी कहानी लायी है।
    कही कोई बर्फीला पहाड़ टुटा है,
    या ये महज़ पानी का अंगार लायी है।।
    ©swadhinta_paakhi_

  • _paakhi_ 129w

    समय

    तुझे शर्म नही क्या किसी बात की,
    बेरुखी से तू पेश आता है।
    परयो को पल भर में अपना बना लेता कभी,
    तो कभी ज़िन्दगी के दरवाज़े पर खड़ी किस्मत से मुह मोड़ लेता है।
    तेरे मिस्टर परफेक्ट होने के किस्से सब जानते है,
    पर तुझसे दर की तगाज़ि को कोई महसूस ही नही क्या कर पता??
    कभी आँखो में सद्भावना है , तो कभी शक से नैन मटक्के तू करता है,
    तेरे इस बदचलन बर्ताब से तो मेरा अल्लाह भी डरता है।
    तू किसीका सगा नही होता, न तू किसी के लिये रोटा है,
    रुकना तो छोड़ तू तो किसी अपने को देख के भी पलके नही झपक्ता है।
    कैसी ये बेरुखी है,
    क्यों तू ऐसा है?
    सोचने पर भी समझ ना आए
    सुन समय तू इतना खूबसूरत धोका है।
    ©_paakhi_

  • _paakhi_ 130w

    OUT OF LOVE

    So..Its high time...
    You stepped out of my world, you stepped out of our world,
    Making an excuse , twisting my curls
    Options ofcouse to free but with badluck proportions i have exactly three
    Forgive foget or fight for the love that was no longer like wine
    She must have good cuts, better than mine
    Perhaps , the reason why our love was only thye
    Forgive to cover your mistakes
    Forget and not to mourn over your intentional mishap
    Or fight for the love , I quote was mine
    For all our kissas and one n only child
    Tips with turns twisting returns
    Biology can't be controlled came after it was your turn
    Why can't love exist for two screamed your mind..
    Wasn't i enough?-question at my side
    You were crossing your path, growing apart
    Foolish was me ,waiting for my other half
    Other half....Seriously you didn't noticed
    Cheating on me , giving me curse
    You went so far, crossing my hearth
    Resembling recurring memories of you
    You and me making one us
    Breaking my trust quenching my soul
    Just like mirror ,broken pieces in our backyard
    What you did was wrong
    You gonna pay for cheating,
    I'll choose one path, right or wrong
    Letting my heart free,
    For its the high time for you and me .
    ©_paakhi_

  • _paakhi_ 132w

    मेरे वादे अटल रहते है
    भले ही में घुट -घुट कर जीत हु
    माना के परिवार के साथ है खुशिया लिखी
    पर में तो रेगिस्तान के संग नैन लड़ता हु
    थार में जो रेत का बवंडर आता
    में उसकी झुल्फो में खोता जाता हु
    भले ही वो बंजर रहती है
    में तो उससे मोहब्बत करता जाता हु
    वो मिटटी की सुगंद मुझे
    गजरे से महका जाती है
    हिमालय की बर्फ मुझे
    बदलो में होने का एहसास कराती है
    जब समुद्र के बिच में रहता हु
    अमृत में तैरा करता हु
    जब गोलियों की आवज़ गूंजती है
    में दिवाली का उन्माद लिए बोखला जाता हु
    जब गोली लगती है मेरे सीने में
    में होली के रंगो में रंग जाता हु
    जब मेरे कुछ कण घर पहोचते है
    माता , पिता , भाई ,बहन के आसुओ से में लड़ता जाता हु
    जब धरती में मै समाँ जाता हु
    तभी तो में देश का वीर शहीद कहलाता हु
    तभी तो में देश का वीर शहीद कहलाता हु
    ©_paakhi_

  • _paakhi_ 156w

    Your past will haunt you till it becomes a past itself..
    ©_paakhi_

  • _paakhi_ 157w

    Dear narrow mentality society

    Dear narrow mentality society
    A thank you letter for you from all the girls who had gone beyond their boundary
    Here's a thank you letter for you who made us realised our plight
    Here's a thank you letter for you who thought that girl should not be allowed to go out at night
    Here's a thank you letter for you who made me realise that my boundaries are none
    But only I have to keep in mind that my dreams should not fly and be shown
    Here's a thank you letter for only and only you who allowed me to be eagle
    But only if I can fly at a height that a hen did
    Here's a very warming thank you letter for you who allowed me that I could have a delicious cook meal
    But only if I can be a self cook and reveal
    Here's a very gentle thank you letter cause you made me realise that I am girl
    Who was not born to fly
    For whom studies were denied
    For whom her boundary was walls of her room
    And all she can do was to be a cook
    Who made her realise that she can't handle her identity
    As if she could not be an ideal personality
    So here's a thank you letter cause your act had scribbled her heart
    Crumbled her hope
    Made her make a loop
    And made her another nirbhaya
    Whose soul was raped and then was thrown but it was late enough to thrive and cry for help
    Thank you
    ©_paakhi_

  • _paakhi_ 158w

    Dear papa

    Dear papa
    Just because I fought last night
    Just because I am not an ideal child
    Just because may be I am the one not in plight
    Just because I am the craziest creature you did see alive
    Just because our life's are taking turn
    And I am not the five year old one
    Just because......Just because.......
    Their are so many reasons that I am not at all the appreciable one
    But do know that you are my potter
    Who'll hold my soil tight
    Who will give me my shape
    You are the one who can hold my hand and preach me love
    You are the one who can drive out darkness within
    You are the one who'll brighten and whiten our hearts within
    Papa just wanna say you are awesome.
    ©_paakhi_

  • _paakhi_ 158w

    पिता

    वो जो खुद अंगार मे जलकर भी,
    हमको शीतलता देते है।
    ना जाने सब कुछ सहकर भी,
    वो इतना कुछ क्यों करते है।।

    हो शिकन जो एक माथे पर ,
    दुनिया से लड वो जाते है।
    ना जाने किस मिट्टी के है,
    जो इतना सब करते जाते है।।

    एक आँच भी आए मुझपे तो,
    ढाल मेरी जो बन जाते है।
    ना जाने क्यों फिर बिन सोचे,
    वो इतना कुछ करते जाते है।।

    घुस्सा करु , भले चिल्लाऊ,
    वो अपने आंसू छुपाते जाते है।
    क्या राज़ हे उनकी शकसियत का,
    कि फिर भी वो चाँद खिलोना लाते है।।

    नाराज जो हो वो मुझसे,
    सुबह तो रानी बेटी कहकर बुलाते है।
    ना जाने कैसा प्यार ये है,
    कि वो चुप-चाप सब कुछ सहते जाते है।।

    प्यार उनसे कितना बतला ना सकु ,ना पाई मे,
    जिन्दगी के हर मोड पे साथ जो उनका पाई मे।
    ऐ खुदा! क्या खुब लिखी ये किसमत मेरी,
    जो पिता के रुप मे एक सितारा पाई मे।।
    ©_paakhi_