#chand

615 posts
  • lamansh 2d

    दो लोगो के बीच हो रही बातें है।

    #चाँद #कोइ #अधूरा #अच्छा
    #chand #adhura #accha

    Read More

    ये चाँद अधूरा ही अच्छा लगता है,
    यहाँ कोई तो है जो मुझ जैसा है।

    वो - हां ये चाँद तुम्हारी ही तरह है,
    ये कभी अधूरा नहीं होता।
    ©lamansh

  • anju01 3w

    नैन

    कभी कभी उसके नैन अैसी सेतानी करते है,
    चाँद भी शरमाते छुप जाता है।
    ©anju01

  • ajit___ 3w

    दाग है उसमे, फिर भी बड़ी चाहत से देखा जाता है,
    चांद पर तभी तो बड़ी मोहब्बत से लिखा जाता है!
    ©ajit___

  • moodswinger12 6w

    Chand taare le aaunga ye bolne wala ni chaiye
    Subh uth kr adrak wali chai pila de bss itna kaafi h mere liye
    ©moodswinger12

  • miss__jyoti 6w

    जो चाँद से प्यार करते हैं
    वो सितारों से settle नहीं होते

    ©miss__jyoti

  • loving_heart 10w

    08*11*2821
    #phir

    Phir wahe dastaan
    Phir wahe baat hai

    Tum kahe b nahi
    Phir wahe hai gila

    #urdu #love #randompoetry
    #shaam #raat #chand #asman

    Read More

    Phir

    Phir wahe shaam hai
    Phir wahe jaam hai

    Phir wahe yaad hai
    Phir wahe raat hai

    Phir wahe aasman
    Phir hassan chand hai

    Phir wahe shaam....

    ©loving_heart

  • deepakkejazbat 13w

    Mohobbat jane ke bad ki.....

    tu mere Naseeb mein nahin ye soch ke main Teri gali mein Jana chhod diya tha
    Amavas ki Raat mein Tera chehra dekh Chand ka Didar kar liya tha
    Mujhe kya pata tha kismat tujhe use mod per le aaegi meri rukhsati mein tu Hi sabse jyada aansu badhai gee.....
    ©ddeepakkejazbat
    @d.gupta

  • tharkudenilima2012 13w

    तो आणि मी

    नकळत त्याच्याकडे नजर गेली..
    लपून मला पाहणारा तो हसत होता..
    मला बघून अंधाऱ्या खोलीत जाऊन बसला..
    मी मात्र वाट बघत दूरवर नजर ठेवून होते..
    सर्वत होणारा काळोख मनात भीती घेऊन आला..
    अचानक उजेडाचा किरण माझ्याकडे डोकावला..
    नजर परत त्या दिशेवर गेली..
    तो समोर येऊन आनंदाने चमकत होता..
    पाहता त्याला मन खुशीत बहरले..
    दोघंच आमच्या जमू लागले..
    निशब्द बोलणे आवडीचे झाले..
    तो मला मी त्याला खूपच जवळचेे..
    चंद्रासोबतचे माझे नाते होतेच आगळे वेगळे..

    -निलीमा थरकुडे

  • himanshuchaturvedi 13w

    हर इक रात को तेरी यादों का हिसाब पता है
    चांद को रोशनी-ए-आफताब पता है
    जुगनू थे हम
    इस सियाह रात में उनके घर रोशनी बांटने निकले थे
    पर उनका घर तो मेहताब को पता है
    .
    ©himanshuchaturvedi

  • ammy21 13w

    Tere husn ki kya mai tareef karu
    Chand bhi tere sadke jaata hai
    Or mere ishq par tum kyu gour farmaoge
    Har koi jo tumhe chahta hai
    ©ammy21

  • __rupali__ 13w

    काश! मैं एक सितारा होती
    आसमां से ढेरों चीजें देखती
    सप्तऋषि के साथ बातें करती
    गैलेक्सी से भी रिश्ता निभाती

    काश! मैं एक चांद होती
    हर रोज चांदनी के नूर को देखती
    ये आसमां हमारा आशियाना होता
    जहां किसी को आने की मंजूरी नहीं होती

    काश! मैं एक इंद्रधनुष होती
    हर दिन सात रंगों जैसी रंगीन होती
    बिछड़े रंगों के संगम के मेल को महसूस करती
    ऊंचाई से, सुंदर प्रकृति के सौंदर्य को देखती
    ©__rupali__

  • snakafia_20 13w



    Chand Raat me yun yaad
    Na kiya kr
    Hickiyan sone nahi detin.
    ©snakafia_20

  • snakafia_20 13w

    Chand

    Suna hai wo jo door chand hai
    Bht mohabbat krne wala hai.
    Jo humare paas chand hai
    Wo bewafa hai.
    ©snakafia_20

  • zohrazubani_ 14w

    रात का अफसना

    रात से गले मिलकर ज़िक्र जो तुम्हारा आया।
    मैने फ़िर महताब को अब्र के साथ में छुपा पाया।

    (मेहताब- चांद)
    (अब्र - बादल)
    ©zohrazubani_

  • sramverma 17w

    Date 24/06/2021 Time 10:14 AM #SRV #chand

    मेरा अपना भी
    एक चौदहवीं
    का चाँद है ;
    जिस की चांदनी
    में मेरी परछाईं भी
    जगमगाती है ;
    जो मेरी राहों
    को सदा ही
    रौशन रखता है ;
    प्रकाश उस का
    सदा ही शीतल
    रहता है ;
    जिसकी रोशनी से
    उसी की कोमल
    किरणों से मेरा
    दिलनुमा घर अंधेरों
    से महरूम रहता है ;
    मेरे चौदहवीं के चाँद
    को मेरे मौला तुम्हें सदा
    महफ़ूज़ रखना है !

    शब्दांकन © एस आर वर्मा

    Image's taken from Google/Facebook/pinterest credit goes to It's rightful owner..

    Read More

    मेरा चांद।

    मेरा अपना भी
    एक चौदहवीं
    का चाँद है ;
    जिस की चांदनी
    में मेरी परछाईं भी
    जगमगाती है ;
    जो मेरी राहों
    को सदा ही
    रौशन रखता है ;
    प्रकाश उस का
    सदा ही शीतल
    रहता है ;
    जिसकी रोशनी से
    उसी की कोमल
    किरणों से मेरा
    दिलनुमा घर अंधेरों
    से महरूम रहता है ;
    मेरे चौदहवीं के चाँद
    को मेरे मौला तुम्हें सदा
    महफ़ूज़ रखना है !
    ©sramverma

  • ammy21 18w

    Ek chehra

    Kayi khoobsurat chehro se guzre honge mgr
    Yaado me unke mera muskurata chehra mano andhere kamre me chand ki halki roshni ke sth dheemi sard ki hawaye chhu ke guzri
    Palke jhapakati meri aankhe maano mere chand se chehre par badal ban baithe ho
    Suraj bhi be-noor ho meri madham madham hasi ke aage
    Ek chehra mujhe ni pta ye sach hai ya mera sapna wo mera chehra
    Maano to ek khwaab
    Maano toh ek sapna
    Vo ek chehra
    ©ammy21

  • i_am_solanki_ritu 19w

    हमसफ़र

    रातों में चांद की रोशनी सा हमसफ़र तु
    समुंद्र में लहरों सा साहील तु
    बागों में खुशबू सा महकता मुझमें तु
    बारिशों की बुंदों सा मुझ पर गिरता तु
    आसमां का जमीनों सा फासला भी तु
    तेज़ धूप में ठण्डी छाव सा तु
    मेरा रब वरगा यार भी तु
    दिलदार भी तु.......!
    ©i_am_solanki_ritu

  • imjeyy 20w

    कबीर प्रेम न चक्खिया, चक्खि न लिया साव

    सुने घर का पाहुना, ज्यूं आया त्यूं जाव.....!

    ~कबीरदास

    ©imjeyy

  • alankaar_5 20w

    Shayari #4


    आओ कभी तुम्हे तारों की नुमाइश कराएं
    तारीफ ही सही तुम्हे इश्क की बदंगी सिखाएं
    बस इसे हमारा नज़राना समझ लो...
    कि तुमहारी याद मे तुम्हे चांद सा सजाएं

    ©alankaar_5

  • kavyanshii 43w

    Mera chand

    Dil dimag sb tujh pr har baithe hai
    Ab to hm tmhe apna man baithe hai...
    Teri ankho ki chamak bta ry hai
    Hm yu hi nhi tmhe apna chand khte hai...