#baarish

743 posts
  • bad_habit 8h

    Iss barish mein bhi apke yaad bohoooot a rehi hain,
    Na jane keu, keu itnaa khas ho ki harr ek pal apke yaad satati hain
    ©bad_habit

  • inkandfable670 4w

    Baarish ki boondo ko
    Zameen pe beh jane ka nahi,
    Baadlo ke beech gumnaam
    Reh jane ka darr hota hai.

    ©inkandfable670

  • anuradhasharma 6w

    ©anuradhasharma

  • anuradhasharma 7w

    जनाब , आज सेहर की बारिश में कुछ तो ख़ास है ।

    तेरी दगाबाजी को रात , फज़ा ने ख़ुद में समाया है ।

    उसकी का वज़न , शायद सहन नहीं कर पाया है !

    ©anuradhasharma

  • kritikakiran 8w

    बड़े बड़े शहरों में ये पेड़ रहते हैं तन्हा बहुत
    इन तड़पते बिलखते पेड़ों की दुआ है बारिश

    ©kritikakiran

  • noorsal 11w

    कैसे रहे जुदा

    इन आंखों से तेरे सपनों को कैसे करे जुदा
    ज़रा यह तो दे कोई हमे एक बार बता
    क्या आंखों से रोशनी होती है जुदा
    क्या जीते जी दिल से धड़कन होती है जुदा
    क्या बारिश की बूंदों से ज़मीन रह सकती है जुदा
    फिर हम कैसे ए सनम रह पाएंगे होकर तुझ से जुदा
    ©Zindagi

  • shayar_ 13w

    BARSAATON MEIN (POETRY)

    था प्यार मोहब्बत का मौसम
    जब देखा उसे अपने ख्वाबों में
    दिल थम सा गया , सांसें रुकने लगी
    जब वो मिली उस दिन मुझे बरसातों में

    देखा था पहली बार , उसका भीगता चेहरा
    उन बारिशों में
    जब देख रही थी वो मुझे
    मेरी आंखों मे आंखें डाल के

    उसकी मुस्कुराहट भी सबको दीवाना कर रही थी
    महफ़िलों में
    वो चाँद भी फीका सा लग रहा था
    जब देखा उसको मैंने करीब से

    बूंदें गिर रही थी उसके उन
    होंठों को छूते हुए
    मैं भी भीगता रहा उसके साथ
    उसे चूमते हुए

    सोच रहा था मैं की पकड़ के उसे
    भर लूं अपनी बाहों में
    पर दिल कह रहा धड़कन बना लूं
    या बसा लूं अपनी साँसों में

    जब देखा था तुम्हे भीगते हुए
    बरसातों में
    तुम आज भी रहती हो मेरे दिल में
    और जब्ज़ातों में


    " भर रहा हूँ हर रोज़ पन्ने
    मेरी डायरीयों के ,
    लिख रहा हूँ हर पल तुझे मैं
    मेरी शायरियों में . "

    True Lines Of My Heart Feelings❤️

    That's Reason.. i love❤️BAARISH❤️


    ©shayar_

  • kaustubh_jumle 17w

    भीगी सी ज़ुल्फ

    मुझको पता है की बरसी घटा है,
    भीगी सी ज़ुल्फ़ों में आए हो।
    ज़मीं से छल्के, ज़रा हलके हलके,
    माटी की खुशबू लाए हो।
    भीगी सी ज़ुल्फ़ों में आए हो।

    बारिश की छम-छम, जैसे हो शबनम,
    बूँदों से बदन को सजाए हो।
    है एक कुल्हड़, ये कैसी उलझन,
    दिल से अभी तुम पराये हो।
    भीगी सी ज़ुल्फ़ों में आए हो।

    कारी सी रैना, कारी ही है ना,
    चरागों की लौ को बुझाए हो।
    किताबों सी दिखती, छिपाये न छिपती ,
    कब से नज़रे जमाए हो।
    भीगी सी ज़ुल्फ़ों में आए हो।

    ना कुछ हुआ है, ना हो ये दुआ है,
    फीर भी तुम ही तुम छाए हो।
    कहूँ मैं कैसे, तुम बारिश के जैसे,
    फिज़ाओं के दर सराए हो।
    भीगी सी ज़ुल्फ़ों में आए हो।

    ©kaustubh_jumle

  • jenish_dar_raval__ 23w

    JUDAIYAAN

    Dil se Roye magar Honto se muskura Baithe,
    Yunhi Hum kisi Se wafa Nibha Baithe,
    Wo Hame Ek Lamha Na De Paye Apne Pyar ka,
    Aur Hum Unk Liye Apni Zindagi Gawa Baithe.
    ©jenish_dar_raval__

  • ap_stories 28w

    बारिश

    कुछ तो कह रही है ये ज़िन्दगी।
    रिमझीम बारिश की तरह,
    बरस रही है ज़िन्दगी।

    कुछ तो कह रही है ये ज़िन्दगी।
    कल कल मधुर ध्वनि की तरह,
    टपक रही है ज़िन्दगी।

    कुछ तो कह रही है ज़िन्दगी।
    नदियों के पानी की तरह,
    बह रही है ज़िन्दगी।
    ©ap_stories

  • _prachie_ 28w

    Jo waqt nhi de pa rahe hn
    Wo saath kya denge
    Jo khud hn andhe
    Wo tumhe insaf kya denge

    ©_prachie_

  • iamkislay 30w

    @readwriteunite @mirakee #hindi #poem #urdu #kavita #shayri #love #pyar #dil #baarish #zinda
    .
    Kisi ke door hone ka gham hi behtar hai.. uske pass hoke bhi sath naa hone ke gham se..♥️

    Read More

    कैसे ज़िंदा रहुं

    किसी के बेइंतहा प्यार में बहने के बाद,
    तुम ही बताओ कैसे खड़ा रहूं मैं।
    जिसको टूट के चाहा हो, उसके जाने के बाद,
    तुम सोच भी कैसे सकते हो जुड़ा रहूं मैं।।
    अब तो मन बारिश में भीग जाने को करता है;
    और तुम उम्मीद करते हो,
    के इतने आंसुओं के बाद भी सूखा रहूं मैं।
    किसी को दिल-आे-जान से चाहने के बाद;
    मेरी "जान" के जाने के बाद,
    तुम ही बताओ कैसे ज़िंदा रहूं मैं।।
    .
    ©iamkislay

  • _thecrestfallenwriter_ 30w

    सुना है बहुत बारिश है
    तुम्हारे शहर में,
    ज़्यादा भीगना मत,
    अगर धुल गयी सारी ग़लतफ़हमियाँ,
    तो बहुत याद आएँगे हम...!"

    ©_thecrestfallenwriter_

  • madhushree 31w

    Bukhaar
    Baarish
    Aur
    Bura waqt
    ............kabhi bata kar nhi aata....
    ©madhushree

  • vikkoo 31w

    "कुछ ऐसी भी बरसातें आयीं
    इठलाते बलखाते आयीं
    ना केवल प्यास बुझाते आयीं
    जीवन मलंग सिखाते आयीं
    कुछ दिल में गीत जगाते आयीं
    रोम रोम झनकाते आयीं
    कुछ कोई दर्द डुबाते आयीं
    कुछ किसी की याद दिलाते आयीं
    कभी कोई आग बुझाते आयीं
    कभी कोई ज्वलन जगाते आयीं
    कुछ हल्के से मुस्काते आयीं
    कुछ अन्हद नाद सुनाते आयीं
    कुछ इश्कों की सौगातें लायीं
    कुछ तन्हाई में डुबाते आयीं
    कुछ ऐसी भी बरसातेंं आयीं
    जो छुपते और छुपाते आयीं
    जब जब थकने लगा था दिल
    धीरे से कदम बढ़ाते आयीं
    जब हार मानने लगता मन
    फिर जीना इसे सिखाते आयीं
    लोग आए और लोग गये
    बरसातें साथ निभाते आयींं"

  • 0_benign_0 31w

    Mai bheegti gayi uss baarish mein,
    hokar bekhabar teri sifarish mein.
    Mai roti, jab bhi hota baarish hoti.
    Mai hasti, jab baarish ki
    bunde cehchahati! 8~D
    Baarish hai mere sabse kharib,
    fir bhi na jane kyu usne
    kar diya tumhe mujhse itna dur,
    ke ab mera dil ho gaya hai itna garib.
    Woh toh uchalti, tip-tip karti bunde
    mere tan ko bhigoe, mann ko sawarein
    haye, mano jaise ho gaya hai baarish se
    mujhe saccha pyaar... bas dar lagta hai
    karne ko izhaar;
    kya pata woh bhi tere jaise
    karde mere ishq ko inkaar...
    Mujhe sur-taal lagana khub bhaye,
    jab bhi woh barsaat ka mausam aaye!
    Taazgi ka ek khubsoorat sama chaye,
    jab kabhi garajte, barastein badal aaye.
    Kitna kushnuma hai na
    yein barsaat ka mahina,
    Jhoom kar naacho,
    mast magan hokar gaao bina bahayein pasina!
    Maine khub bahayein kagaz ke naow,
    dubokar apne hath aur paow!!��
    Pakaoudo ka luft,
    chai ki chuskiyaan,
    jaise maano ho rahi jaanat mein mann mastiyaan!
    Sunn kar baarish ka dhun,
    mai har wakt ho jati hu gumn!
    Hain yein mere adhurein pyaar ki daastaan,
    agar karni hai tujhko ise puri,
    toh jaldi se aakar mujhe chun!��



    @hindiwriters #baarish #pyaar #rainyday #rain #island #peace #words #pod #ceesrepost @writersnetwork

    Read More

    BAARISH❤

    ©0_benign_0

  • discreetliterature 32w

    Too Damn Serious.

    ये बादल जो गरज रहे,
    जरा ज्यादा ही जोरो शोरों से रहे।

    ये बारिश जो बरस रही,
    जरा ज्यादा ही जोरो शोरों से रही।

    कहिपर किसीने आंधी को ललकारा दिया,
    आंधी जरा ज्यादा ही serious हो रही।

    भयावह है,
    थोड़ा जानलेवा भी शायद,
    मगर क्या करे,
    आँखों मे आँखे मिलाना,
    उससे हि तो सीखा है।

    ©discreetliterature

  • mr__inverted 32w

    Baarish ka pyaar

    Saayad ab ye aasman bhi taras raha hai zamin se milne k liye,
    Isiliye itta barash raha useh paane k liye...❣



    ©mr_inverted

  • dipsisri 33w

    बारिश..!

    अगस्त के महीने की बात है,
    और बड़ी ही प्यारी-सी सौगात है ।

    वो जब आसमान से कुछ ठंडी-ठंडी सी बूंदे गिरती है ,मानो ऐसा लगता है जैसे आज धरती पे फूलों की बौछारें आ गई ।

    बरामदे में बैठ हाथों में अदरक वाली चाय की प्याली लिए मैं उस काले बादल की गहराई में एक सोच में डूब जाती हूं ।☕❣

    हल्की सी ठंडी हवा और वो सुगन्धित मिट्टी की सौंधी खुशबू बस हर बारिश में दिल को छू जाती हैं ।

    और बारिश की बूंदे जब गिरती है उसकी धुन सुन कर बस थिरकने को जी करता है ।

    मोरनी का मनमोहक नृत्य देखना भी नसीब हो ही जाता हैं,
    और अगर उसने पंख फैला दिए फिर तो जैसे दिन ही बन गया ।

    इस बारिश से शायद कुछ रिश्ता-सा है ☔
    क्यूंकि हर बार ही ये एक नई सी उमंग संचारित कर देता हैं ।
    ©dipsisri

  • ap_stories 21w

    Moment

    That is your moment,
    I'll never fit in it.
    That is your life,
    I'll never live like you.
    That is your time,
    I'll never manage like you.
    That is your perspective,
    I'll never feel it like you.
    ©ap_stories