#Kainaat

7 posts
  • vaibhav_narwade 17w

    You want it?
    Or you need it?
    Make those decisions,
    Hold your emotions!

    If you want it with all your heart
    You'll surely get it with help of "kainaat"
    You must have heard ..
    These familiar words..
    'Kisi chij ko puri shiddat se chaho toh
    puri "kainaat" usse milane ki koshish krti he..'

    So have all the hopes..
    Don't loose the ropes..!
    And ..Be in the game...
    Either you win and take the fame..
    Or you may lose still there ain't any shame!

    ©vaibhav_narwade

  • preranarathi 29w

    क्या रख?

    ऊँची है उड़ान तेरी, अपने हौसलो को बुलंद रख।
    होगी एक दिन ये दुनिया कदमो में तेरे, खुद पर यकी रख।
    राहे होगी नहीं आसान, पर अपने कदमो को मजबूत रख।
    मिलेगी जन्नते भी तुझे, उस खुदा पर एतबार रख।
    जमाना कहे चाहे कुछ भी तुझसे, बस अपनो पर भरोसा रख।
    जो दिल मासूम है तेरा, उस दिल में सिर्फ मोहब्बत रख।
    किसने कहा आसमान को अपनी सीमा बना, अपनी सोच को सीमाहीन रख।
    छूना है अगर उस चाँद को, तो पंख अपने फैला कर रख।
    पूरी कायनात भी होगी तेरी, दिल में अपने तव्वजो रख।
    याद रखेगा ये जमाना तुझे, अपने नाम का परचम लहराने को तैयार रख।

    - प्रेरणा राठी
    ©preranarathi

  • ivthoughts 53w

    Vo meri bahaoon main ho

    Choom uske maathe ko kuch is tarah apna pyaar ijhaar karun,
    Ki Vo ho meri bahaoon main,
    Aur aag lgi ho saari kaynaat main

    ©ivthoughts

  • soulful_chik 110w

    Bahut khushi hoti hai �� @beautifulgirl
    #khushi #kainaat #pyaar

    Read More

    Sach hai

    Jo khushi tere chehre ko dekh kar aati hai
    Woh kainaat me Kuch aur dekh kar nhi aati.

    ©soulful_chik

  • shreyasi_rath 114w

    My first collab in mirakee...
    With @bhaigiri__ sir your write-up is too too nice����aapse achha toh nhi likh skti pr kuch kosis jarur ki hun����
    गलतियों को दिल से स्वागत करती हूँ!!!!
    #maa #collab #umra #kainaat

    Read More

    एक उम्र वो था कि
    पूरे काएनात पर न कोई गुमान था,
    एक उम्र ये है कि
    सिर्फ माँ पर ही ऐतबार है...

    ©tds_sr_tbnu__shreyasi

  • babershaik 163w

    Zindagi

    मैं ज़न्दगी हूँ।
    मैं ज़न्दगी हूँ ये दुनिया मेरा घर है
    मैं सद्धीयों से इस ज़मी पर जी रही हूँ।
    मैं उन सब में जीति हूँ जो जान्दार कहेलाते हँ।
    मैं लहेरें बनके पानी में बहती हूँ
    मैं आग बनकर जलती हूँ
    मैं हवाएँ बनकर फिज़ावों में उठती हूँ
    मैं पेड पैधों में हरी भरी रहती हूँ
    परीन्दों में रहकर परवाज़ करती हूँ
    जान्वरों में रहकर इनसान के काम आती हूँ।
    मैं मुहब्बत बेजानों से भी करती हूँ
    ये कैएनात मेरे दम से चलती है।
    मैं ज़न्दगी हूँ।
    ©babershaik

  • babershaik 163w

    Kainaat

    ये फलक ये ज़मी,सुरज,चाँद और सितारे
    ये सम्नंदर, नदियाँ और तालाब सारे
    ये पर्बत,घने जंगल और ये नज़ारे
    दिल को हैं लुभाते लगते हैं मन को प्यारे
    ©babershaik