#Independenceday

945 posts
  • nancygandhi 4d

    Let me forgive the history
    Let me forgive myself more
    Let me try and suffer less
    Let me take less effort to be proud
    So that I won't take much effort to be equal

    with less suffering let there be lesser heroes...

    -NaNo

    ©nancygandhi

  • dermajelata 5w

    Merdeka

    Hari 17 bulan 8 tahun 45
    76 tahun katanya kita merdeka
    Nyatanya penjajahan masih merajalela
    Dahulu dengan belanda sekarang antar saudara

    23 tahun setelah reformasi indonesia
    Ternyata kita masih bercita-cita untuk leluasa
    Memperjuangkan aspirasi saja bisa masuk penjara
    Bahkan mural sekarang harus dihapus paksa

    Hati-hati wahai para rakyat jelata
    Merdeka hanya kiasan dan kata-kata
    Untuk penguasa yang haus harta dan tahta
    Karena merdeka sesungguhnya hanya untuk mereka

    ©dermajelata

  • sanketspeaks 5w

    आज़ादी

    कई सालों तक था चल रहा अत्याचार
    तब जाके कहीं परिवर्तन की हवा चली
    उजड़ भी गये कई घर उस झोंके में
    हमें यह आज़ादी सरल न मिली

    दिए बलिदान इस मिट्टी के सुपुत्रों ने
    फैल गया संग्राम हर नुक्कड़ और गली
    जल रहा था हर कोई अंदर ही अंदर में
    हमें यह आज़ादी सरल न मिली

    आज नहीं हो रहा नारी का सन्मान
    भ्रष्टाचार के बिना शामें नही ढलती
    लड़ते रहना है हमे इस सब के खिलाफ
    क्योंकि यह आज़ादी सरल नही मिलती

    आज़ादी के बाद भी खत्म नही हुई मुश्किलें
    कुछ न कुछ होती रहती है हम से गलती
    मगर यूँही डटे रहना है हमें आखिर तक
    क्योंकि यह आज़ादी सरल नही मिलती

    ©sanketspeaks

  • boundless_stories 5w

    Freedom

    Freedom Is A Wing, A Power , A Courage
    And A Right To Do What Makes You Happy.
    ©boundless_stories

  • raman_writes 5w

    आज़ाद

    बहुत क़ैद-ख़ाने है अब भी आज़ाद भारत में ।

    हमें ज़रुरत है अपनी बेड़ियाँ तोड़ने की ।।


    ©raman_writes

  • japsjk 5w

    May there descend on this earth, our land
    Some Angels with a healing touch
    To eliminate the sufferings of those
    Whom nature's wrath has in its clutch

    May there descend on this earth, our land
    Some Angels with the balm of love
    To obliterate darkness and hatred
    And instill faith in the God above

    May there descend on this earth, our land
    Some Angels with the lamp of knowledge
    To dispel the ensuing ignorance and evil
    And illumine the souls of men

    May there descend on this earth, our land
    Some Angels with a cup brimming of happiness
    To remove all sorrow, pain and gloom
    And fill all hearts with eternal bliss

    And when the bells of serenity chime
    And when souls resonate with joyous smiles
    May we hoist with pride, this tricolor sublime
    Embracing with dignity the hues of life
    ©japsjk

  • iamborntoartist 5w

    Mitti main paida hue the, mitti main hi daffan ho gey, essey hain jawan desh ke liye kurbaan ho gey.
    #saluteToIndianArmy

    Written by:
    PAWAN PAREEK
    #iamborntoartist

    #15august #happyindependenceday #independenceday
    #2021 #writer #deshbhakt #reality #lekhakkalekh #peshhainkuchlines #teamrapperproduction

    Read More

    Mitti main paida hue the, mitti main hi daffan ho gey, essey hain jawan desh ke liye kurbaan ho gey.
    #saluteToIndianArmy

    Written by:
    PAWAN PAREEK
    #iamborntoartist

  • dev786523 5w

    भारत: कल,आज और कल

    इस आज़ादी की कीमत हमारे अपनो ने खून से चुकाई है,
    न जाने कितने ही युवाओ ने अपनी जान गवाई है,
    गर्व होता है मुझे अपने इस देश पे,
    जो विश्व मे सर्वाधिक विविधता लिए एक लोक तंत्र के रूप में दिन-ब-दिन आगे बढ़ रहा है,
    और सुनहरे कल के सपने
    अपनी युवा पीढ़ी के हाथों गढ़ रहा है।

    आज स्वतंत्रता का अमृत महोत्सव मनाया है ,
    कल (100वी वर्षगांठ पर) आज़ादी का
    स्वर्णिम महोत्सव भी मनाएंगे ,
    अपने प्रयासों और परिश्रम से साल-दर-साल
    हम भारतीय एक राष्ट्र के रूप में
    उत्कर्ष की ओर बढ़ते जाएंगे,
    जो कल्पना की है हमारे संविधान निर्माताओं ने वैसा ही देश हम जल्द ही बनाएंगे ।
    ©dev786523

  • libra_fey 5w

    @miraquill @writersnetwork #soldiers #independenceday #pod #writersnetwork #miraquill


    The immortal souls on the line,
    Fighting for the millions of lives,
    Hindu or Muslim or Sikh,
    Stood shoulder to shoulder,
    Forming an alliance
    To kill the hostiles.

    Bullets in their chests,
    Still holding their weapons tight,
    The words “promise to return”
    Of their mothers,
    And the faces of their widow wives
    Is deepening the bullet to their heart.

    Killed those demons and
    Fell down kissing the ground,
    Spelt their last words
    “Vande Mataram”,
    And attained eternity.

    Oh, how pure those souls are!
    Sacrificed their holy lives,
    Just to see their flag high and independent,
    That now waves with the wind of their last breathe.

    Shed their priceless blood,
    For the people, they don’t know,
    And living behind the people,
    To whom they meant a whole life.

    How can we normal people repay them?
    When they are Gods in human bodies.
    How can we repay them?
    When they sacrificed their lives,
    To break our bars.
    How can we repay them?
    When they left their loved ones
    To let us love each other freely.



    A small contribution to every soldier.
    Happy independence day������❤️

    Read More

    The Immortal Souls- SOLDIERS

    ©libra_fey

  • _sabr_ 5w

    #आज़ादी

    इसी रोज़ लिख गए थे
    ख़ून-ए-दिल से
    फ़रमान आज़ादी का,
    कुछ दिवानों ने नज़र किया था
    हर क़तरा नाम वतन के,
    उस रोज़ भी थी
    आज भी है
    और कल भी इसकी महक आएगी,
    य़े जश्न-ए-आज़ादी है “सbr”
    हर बरस मनाई जाएगी।
    ©_sabr_

  • rishi_chauhan 5w

    आज़ादी

    है दिलाई जान देकर, ये जो गर्व है आज़ादी
    चट्टान-से साहस, जुनून का पर्व है आज़ादी
    उनके शौर्य की सदा गूंजेगी हर दिल में
    जिनके बलिदानों से कमाई हमने आज़ादी ।

    ©rishi_chauhan

  • pratima_pandey 5w

    मेरा वतन

    हिन्दुस्तान जिंदाबाद ,मेरे दिल की हर धड़कन से यही आवाज आती है ।
    मेरा वतन सदा रहे आबाद ,मेरी सांसों ने पल-पल बस यही दुआ मांगी है ।।
    - प्रतिमा पांडेय
    ©pratima_pandey

  • asadurrahman 5w

    Aazadi?

    Hai baat aadhi raat ki
    Jab chal rahi ye saans thi
    Wo piche piche bhaagta
    Chala gaya pukaarta
    Ke piche koi chor hai
    Khaamosh ek shor hai

    Sabhi ne ansuna kia
    To kisne ye gunah kia
    Ke aag chaaron orr hai
    Jo bacch gaya wo chor hai
    Ab jal gayi hai bastiyaan
    Phir kaisi hai ye mastiyaan

    Kuch log to wahan gaye
    kuch yahin ke hokar rah gaye
    Jo log the basey yahan
    Na chunn sake wo asthiyan
    Wo din bhi aaj ka hi tha
    Jab jal rahi thi bastiyaan

    Barson puraani baat hai
    Par khouf ab bhi saath hai
    Kuch aisa intezaam hai.
    Choron ka hi nezaam hai.
    Qissa yahin tamaam hai
    Tu aaj bhi ghulam hai.

    ©Kashif Shakeel

  • masoom_bachchi 5w

    आजादी के इस 75 वें सोपान पर भारत माता एवम् हमारे वीर क्रांतकारियों/जवानों को कोटि कोटि नमन ���������� एवम् समस्त भारतवर्ष को अशेष मंगल कामनाएं ������
    #independenceday #india_meri_jaan
    #independenceday2021

    Read More

    यह जो इतना प्यारा हमारा हिंदुस्तान नजर आता है
    इतिहास के पन्नों में वीरों का बलिदान नजर आता है!
    ©masoom_bachchi

  • ___saarthak 5w

    #independenceday #स्वतंत्रता

    Read More

    आज़ादी के मतवाले

    आज़ादी के मतवाले वो थे,
    बलिदान देने तैयार जो थे,
    मातृभूमि की एक पुकार पर,
    लहु बहाने तैयार जो थे।

    जेल में बीती जवानी जिनकी,
    गोलियाँ खाईं थीं सीने पर,
    हँसकर फ़ाँसी पर झूल उठे,
    मातृभूमि को अदा किया कर।

    एक नहीं, सौ नहीं,
    करोड़ों ने जीती लड़ाई थी,
    तब जाकर मेघों ने
    स्वतंत्र भारत पर वर्षा बरसाई थी।

    वीर-वीराँगनाओं की विरासत है,
    इसे आगे बढ़ाना है,
    धर्मपथ पर आगे चलकर,
    एक नया भारत बनाना है।

    ~ @___saarthak

  • neha_netra 5w



    देश की आज़ादी का जश्न मना रहे हो ,
    पर मेरी आज़ादी , उसका क्या ?

    हां : मैं भी आज़ाद होना चाहती हूं ,
    तुम्हारी उस संकीर्ण मानसिकता से ;
    जहां औरतों को चुल्हे की रोटी से आगे भी देखा जाए :

    जहां तन की भूख शांत करने के लिए ,
    मुझे मात्र गोश्त का टुकड़ा ना समझा जाए ;

    जहां छोटे कपड़ों के कारण ,
    मेरे चरित्र पे कोई प्रश्नचिन्ह ना लगाए ;

    जहां नीयत तुम्हारी गलत होने पर ,
    परदा मुझे ना करवाया जाए ;
    जहां की गालियों में ,
    मां-बहनों का नाम ना आए ;
    जहां औरतों और बच्चियों की,
    अस्मिता ना तार-तार की जाए :

    " मैं आज़ाद होना चाहती हूं ,
    हर उस कैद से जहां केवल ;
    मैं उपभोग की वस्तु ना समझी जांऊ ;

    मेरे देश की औरत आज भी कैद है ,
    मर्द की उस सोच में ;
    जहां एक औरत को कमजोरी ,
    और गुलामी की गुड़िया कहते हैं ;

    तो कैसे मनाऊं मैं जश्न-ए -आज़ादी ;
    जब की मैं आज भी परतंत्र हूं.!

    ©neha_netra

  • s2sumit 5w

    कर्ज़दार है हम सब इसके
    वतन का क़र्ज़ चुकाना है
    भारत को भारत बनाना है

    सत्य अहिंसा और धर्म का
    सही मतलब सबको समझाना है
    भारत को भारत बनाना है

    है ज्वाला सीने में धधक रही
    अन्याय, अधर्म, भेद भाव
    और हिंसा को जलाना है
    भारत को भारत बनाना है

    वेद पुराण उपनिषद् ज्ञान से
    पाखंड इस देश से मिटाना है
    भारत को भारत बनाना है

    टूट गयी है जो अखंडता
    खो गयी है जो संस्कृति
    सबको वापस लाना है
    भारत को भारत बनाना है

    विश्व गुरु था और रहेगा
    फिर से वो ज्ञान का प्रकाश फैलाना है
    भारत को भारत बनाना है

    है सपूत हम भारत माँ के
    मिलके देश बचाना है
    लूट सके न फिर कोई ताक़त
    ऐसा भारत बनाना है
    जय हिन्द
    ©s2sumit

  • i_shukriya 5w

    Shayari...

    want to share my own written shyari please have a look nd feel the words....


    Don't known your religion
    not any race,
    what I know is we are humans
    nd are free for the shake,
    let's achieve our goal nd crack our note,
    do something which all remember
    that he was the part of this globe



    ©i_shukriya

  • vehliboysachin 5w

    खून बहाया नदियों जैसे
    फिर कहीं ये मुकाम पाया..
    वीर शहीदों ने शहादत से सींची आजादी
    तब जाके कहीं ये तिरंगा लहराया...
    जय हिंद!
    ©vehliboysachin

  • heartstrings_pal_ryu 5w

    I dream of a nation where the religion, caste, creed, gender, species, region, langauge, class no longer divide people but bring more sensitivity towards the needs that arise due to these differences.

    I dream of a nation where in no innocent is charged as guilty, where there is no more capital punishment, where justice is not limited to a few.

    I dream of a nation where no child dies of hunger, where no mother has to skip her meals to feed her children, where no father has to use his entire lives earnings to save his child.

    I dream of a nation where there is dignity of labour, where the wheels on which this economy runs are given due credit for all their hard work and there is no exploitation.

    I dream of a nation where there are no deaths due to manual scavenging, where the upper caste understand how caste system works by removing their caste blind glasses and where there is complete Annihilation of Caste that Babasaheb had wanted.

    I dream of a nation where the journalists remember their ethics, where tbe businesses do not set the agenda of the news channels and where the definition of 'good' is not 'being better than the worse'

    I dream of a nation where the birth of a girl child is celebrated in every family, where woman have rights over their own bodies, where the LGBTQ community doesn't have to relive their traumas every day.

    I dream of a nation where humanity is worshipped as the highest virtue for if we stop being human then what is the point of living anyway.

    © heartstrings_pal_ryu

    #independenceday #india #writersnetwork

    Read More

    I dream of a nation