Grid View
List View
Reposts
  • dubeyjii_14 20m

    नोबिता सा मै हर रोज इंतजार करता हूं,
    कोई आए मेरी जिंदगी में doremon बनकर..!

    Read More

    अपनी परेशानिया जिसको सुनाकर मै खुद बेफिक्र हो जाऊ,
    एक हमसफर चाहिए, बिलकुल पापा जैसा..!
    -Akanksha

  • dubeyjii_14 2d

    एहमियत जिसे होती है वो झुक जाता है,
    वरना स्वाभिमान किसी का किसी से कम नही होता,
    हर बार नाराजी पर वो आ जाता है तुम्हे फुसलाकर मनाने,
    खुशनसीब हो तुम,हर किसी के नसीब में ये मरहम नही होता..!
    -Akanksha

  • dubeyjii_14 3w

    दिवाली से ढेर रौनक,श्रद्धा और ठाट बाट के,
    मन होला हम देखती शोभा बिहार वाला छठ घाट के..!
    संस्कृति अउरी विकास जहवा साथ साथ चले,
    बेबाकपन और लाज से बंधल ओह मजबूत गाठ के..!
    बात नवरातर के होखे चाहे होेखे कौनो परब,
    सब आ जाले घरे,चाहे गइल होंखे अरब..!
    महाबोधी आकर्षण,बाटे मिथिला शक्तिपीठ,
    पोंगाढ़ी में राह मिलेला एकदमे सटीक..!
    केतना बड़ाई करी हम अपना बिहार के,
    जहवा गीत बढ़ावे शोभा हर तीज-त्योहार के..!
    जहवा उगत सूर्य से पहिले डूबेवाला के पुजल जाला,
    महानता एतना बा तबे त छठ महापर्व कहाला..!
    ताराचंडी मईया मन में बहुते श्रद्धा भरेली,
    भलूनी वाली भवानी आवत हर संकट के हरेली..!
    हर बात में विशेषता रखले बाटे जवन हर बिहारी के प्राणाधार ह,
    सास भले कही चलत होखे बाकी,असल सुकून बिहार ह..!
    अकुता जाला जब मन मायानगरी के जंजाल से,
    मन होखे जा के मिल लेती फिर ओहि देहाती चाल से..!
    बा तनी मनी टकराव तनिसा बरियारी, रंगदारी बा,
    एकजुटाव जब हो जाला त हर शक्ति प भारी बा..!
    सोन नदी के सुघराई ,बक्सर के गंगा घाट के,
    महिमा जग में फैलल बाटे बाबा बैजुनाथ के..!
    आयरन देवी, पटन देवी के जग में बाटे हाला,
    जनमभूमि मईया सीता के जानकी मंदिर जवन कहाला..!
    हर अवसर पर जहवा गीत बधाई गावल जाला,
    पूजा से हर घर बन जाला मंदिर और शिवाला..!
    दुलहीन जईसन सजल धजल हर नहर, हर घाट के,
    मन होखे ला देखती शोभा बिहार के छठ घाट के..!
    भक्ति से सराबोर मन,अऊरी गीतन से शोभित रात के,
    मन होखे ला देखती शोभा बिहार वाला घाट के..!
    -Akanksha

    Read More

    दुलहीन जईसन सजल धजल हर नहर, हर घाट के,
    मन होखे ला देखती शोभा बिहार के छठ घाट के..!
    भक्ति से सराबोर मन,अऊरी गीतन से शोभित रात के,
    मन होखे ला देखती शोभा बिहार वाला घाट के..!
    -Akanksha

  • dubeyjii_14 11w

    यूं तो बड़बोली हूं मैं,बहुत बोलती हूं,पर कभी कभी जब मैं शांत हो जाऊ ना तो गौर से देखना मेरी आखों में,कुछ चल रहा होता है।और ये अक्सर तब होता है जब मैं तुम्हे सोचती हूं। हां और है ही क्या ऐसा जो इस बोलती मशीन को बंद कर सके,तुम्हारा खयाल,बस तुम्हारा खयाल।
    ये होता कब है पता है जब रात गहराई हो और मूझपर हल्की सी चांद की रौशनी पड़ जाए,तब सोच में डूब जाती हूं अक्सर की तुम होते तो क्या होता तुम ना होते तो क्या होता,और जो तुम होकर भी ना होने जैसे हो,तो क्या..!
    जब हर कोई हो आसपास और कुछ ऐसा हो जाए जो तुमसे जुड़ा है,उस वक्त सबके साथ होकर भी खो जाती हूं मैं किसी और दुनिया में,जहा सिर्फ मै हुं और साथ है तुम्हारा खयाल।
    खैर मैं और मेरे खयाल।असल दुनिया से बिलकुल परे,मै खुश हों जाती हूं उन खयालों भर से अब तुम्हे पाने की ख्वाहिश नही रही,मै तो हर रोज अपने खयालों में तुम्हे जी लेती हू..!
    (मै और मेरी कविताएं..)
    -Akanksha

  • dubeyjii_14 17w

    बखूबी बनाई थी खुदा ने हर एक चीज,
    एक प्यारा चेहरा, कातिल मुस्कान,
    बस एक मासूम दिल बना के सब खेल बिगाड़ दिया..!!
    -Akanksha

  • dubeyjii_14 19w

    सच्ची खुशियां सौप मुझे मेरे मालिक,
    ऊब गई हुं मै इस झूठी मुस्कान से,
    औरों को समझ-समझकर खुद को भूल गई हुं मै,
    मिलना चाहती हू फिर अपने अंदर के इंसान से..!!
    -Akanksha

  • dubeyjii_14 21w

    एहसास मातृत्व का..!!


    जबसे पता चला है तुम्हारे बारे में ,
    एक अलग सा एहसास हो रहा है,
    खुश यूंही बेवजह होने लगी हूं मै,
    कभी बेवजह ही मन उदास हो रहा है..!!
    खुशियों की तो सीमा नहीं है,
    एहसास एकदम अलग सा है ,
    सबकी नजरें तुमपर टिकी है,
    उल्लास एकदम अलग सा है..!!
    आतुर हूं मै भी तुमसे मिलने तुम्हे देखने को,
    महसूस अब कुछ खास हो रहा है,
    कैसे "मां" कहके बुलाओगे तुम,
    मुझे तो अभी से ममता का आभास हो रहा है..!!
    तकलीफे बेशक हजार हो रही है,
    हर नब्ज मेरी बीमार हो रही है,
    रगो में खुशियां बनकर दौड़ रहे हो तुम,
    तुम्हारी मौजूदगी हर दर्द का उपचार हो रही है..!!
    जानते हो, डर लगता है कभी कभी समाज को देखके,
    कही तुम भी औरों की तरह मतलबी हुए तो,
    फर्ज तो हम सारे निभायेंगे तुम्हारी तरफ,
    पर तुम भी औरों की तरह निर्मोही हुए तो,
    बिखरकर रह जाएंगे सारे प्रयत्न मेरे,
    अगर लक्षण तुम्हारे एक भी विद्रोही हुए तो..!!
    खैर आगे की बातो का क्या ,अभी तो मन में प्यार है ,
    जानते हो तुम्हारे होने से,मेरा जीवन सदाबहार है,
    हर रोज नई उम्मीदें है, हर रोज नया इंतजार है,
    जल्दी आ जाओ ना बच्चा, तुमसे मिलने को दिल बहुत बेकरार है..!!
    सबकुछ नया होगा सबकुछ अलग होगा,
    मै तुम्हे हर चीज से अवगत कराऊंगी,
    क्या कैसे और क्यू होता है ,हर एक बात तुमको बताऊंगी,
    एक तुम ही तो होगे पास मेरे, मै अपना सबकुछ तुमपर लुटाऊंगी..!!
    तुम बिलकुल मुझपर जाओगे, मुझे अभी से आभास हो रहा है,
    तुम्हारे होने से अब मुझे खुद पर विश्वासहो रहा है,
    इस अधूरे से सपने को जल्दी पूरा करवाओ,
    और वक्त ना लो, बहुत हुआ अब जल्दी आओ..!!
    © Akanksha dubey

  • dubeyjii_14 22w

    माता माता कहके तुमने हजार प्रहार किए उसपे,
    आखिर वो धरणी कबतक सहती..??
    हर समृद्धि उसकी छीन रहे थे तुम,
    बताओ तो धरती कबतक चुप रहती..??
    उसके बर्दास्त की सीमा टूट अब को उसका रूप बदल रहा है,
    ऐ मानव.!! तुझे तेरी करनी का फल मिल रहा है...!!
    -Akanksha

  • dubeyjii_14 25w

    बड़बड़ाती हुं होंठों से,दिल सुनसान लिए फिरती हूं..!
    कोई देख ना ले मेरे जख्मों को इसलिए,
    चेहरे पे फरेबी मुस्कान लिए फिरती हूं..!!
    -Akanksha

  • dubeyjii_14 25w

    मुझे गवारा नहीं है,हर बार खुद को जाहिर करना ,
    अपनी जान कहते हो ना,तो महसूस कर लिया करो..!
    -Akanksha