Grid View
List View
Reposts
  • drinderjeet 29w

    # पति की खुशी_
    साले साहब के बेटे का सूत्र पूजन था। कुहू ने रितेश से एक दिन मायके जाने की मांग मनवा ली। अरे, मैं पूरा एक दिन तुम्हारे बगैर कैसे बिताऊंगा , राजेश ने कहा पर अन्दर से खुश था, चलो एक दिन तो मस्ती करूंगा।
    आज वो घर में अकेला था। डिनर के लिए वो टिक्का पनीर और मनचूरियन ले आया था। आफ़िस से लौटते ही सीधे चाय और देर रात तक टेलिविज़न पर पिक्चर और फिर रात के साढ़े ग्यारह बजे अपनी पसन्द के गीत सुनते हुए भरपूर फ़िज़ वाली काफ़ी का आनन्द। लग रहा था जैसे पहली बार ज़िन्दगी जीने का मौका मिला हो।दूसरे दिन छुट्टी थी इसलिए नींद की कोई जल्दी नहीं थी। सुबह जागते ही आवाज़ दी ' कुहू ' चाय..
    तभी ध्यान आया कि कुहू तो मायके गई है। अकेलेपन के आनन्द का खुमार अब तक उतर चुका था। दिल बेचैन होना शुरू हो गया। आधा तैयार हो कर ही उसने गाड़ी निकाली और सीधा कुहू के पास पहुंच कर बोला ' नाश्ता करना है, जल्दी घर चलो '। घर पहुँचते ही उसका हाथ पकड़ कर बोला '
    अब कभी मुझे अकेला छोड़ के मत जाना, चाय में तुम्हारे बिना मिठास नहीं थी। खाने में रस नहीं था। काफ़ी में खुश्बू नहीं थी, और घर के किसी भी कोने में रौनक नहीं थी।मैं गीतों के खोखले समुद्र में खुद को जैसे डूबो रहा था।
    सिर्फ़ एक ही दिन में तुम्हारे पास और दूर होने का फ़र्क पता चल गया मुझको। कुहू हैरानी से उसे देखते हुए अपनी आँख में आए छोटे से आँसू को पोंछ रही थी।
    ©drinderjeet
    @mirakee #mirakee @writersnetwork #writersnetwork #drinderjeet

    Read More

    पति की खुशी_

    साले साहब के बेटे का सूत्र पूजन था। कुहू ने रितेश से एक दिन मायके जाने की मांग मनवा ली। अरे, मैं पूरा एक दिन तुम्हारे बगैर कैसे बिताऊंगा , राजेश ने कहा पर अन्दर से खुश था, चलो एक दिन तो मस्ती करूंगा।
    आज वो घर में अकेला था। डिनर के लिए वो टिक्का पनीर और मनचूरियन ले आया था। आफ़िस से लौटते ही सीधे चाय और देर रात तक टेलिविज़न पर पिक्चर और फिर रात के साढ़े ग्यारह बजे अपनी पसन्द के गीत सुनते हुए भरपूर फ़िज़ वाली काफ़ी का आनन्द। लग रहा था जैसे पहली बार ज़िन्दगी जीने का मौका मिला हो।दूसरे दिन छुट्टी थी इसलिए नींद की कोई जल्दी नहीं थी। सुबह जागते ही आवाज़ दी ' कुहू ' चाय..
    तभी ध्यान आया कि कुहू तो मायके गई है। अकेलेपन के आनन्द का खुमार अब तक उतर चुका था। दिल बेचैन होना शुरू हो गया। आधा तैयार हो कर ही उसने गाड़ी निकाली और सीधा कुहू के पास पहुंच कर बोला ' नाश्ता करना है, जल्दी घर चलो '। घर पहुँचते ही उसका हाथ पकड़ कर बोला '
    अब कभी मुझे अकेला छोड़ के मत जाना, चाय में तुम्हारे बिना मिठास नहीं थी। खाने में रस नहीं था। काफ़ी में खुश्बू नहीं थी, और घर के किसी भी कोने में रौनक नहीं थी।मैं गीतों के खोखले समुद्र में खुद को जैसे डूबो रहा था।
    सिर्फ़ एक ही दिन में तुम्हारे पास और दूर होने का फ़र्क पता चल गया मुझको। कुहू हैरानी से उसे देखते हुए अपनी आँख में आए छोटे से आँसू को पोंछ रही थी।
    ©drinderjeet

  • drinderjeet 31w

    #हिफ़ाज़त_ Double mask
    यह मुश्किल घड़ी है, वो फिर आ गया है
    ज़हर फिर फ़िज़ाओं में फैला गया है

    सभी सोचते हैं कि महफ़ूज़ हैं वो
    पर अब आईना हमको दिखला गया है

    यह बेफ़िक्री भी इतनी अच्छी नहीं है
    हमीं से थे, जिनको रूला वो गया है

    बची ज़िन्दगी तो सजा लेंगे महफिल
    अभी तो नज़ारे वो दिखला गया है

    Time is tough, Care of yourself and
    your children must be given priority
    Make yourself ready to meet the
    challenge of the Century, Yes You Can....

    ©drinderjeet
    @mirakee #mirakee @writersnetwork #writersnetwork #drinderjeet

    Read More

    हिफ़ाज़त_ Double mask

    यह मुश्किल घड़ी है, वो फिर आ गया है
    ज़हर फिर फ़िज़ाओं में फैला गया है

    सभी सोचते हैं कि महफ़ूज़ हैं वो
    पर अब आईना हमको दिखला गया है

    यह बेफ़िक्री भी इतनी अच्छी नहीं है
    हमीं से थे, जिनको रूला वो गया है

    बची ज़िन्दगी तो सजा लेंगे महफिल
    अभी तो नज़ारे वो दिखला गया है

    Time is tough, Care of yourself and
    your children must be given priority
    Make yourself ready to meet the
    challenge of the Century, Yes You Can....

    ©drinderjeet

  • drinderjeet 35w

    #Happy Holi_

    फूलों की खुश्बू बांटो और कांटों की चुभन को ले लो तुम
    दुख अपनी झोली डालो, सबसे सुख की होली खेलो तुम

    ©drinderjeet
    @mirakee #mirakee @writersnetwork #writersnetwork #drinderjeet

    Read More

    Happy Holi_

    फूलों की खुश्बू बांटो और कांटों की चुभन को ले लो तुम
    दुख अपनी झोली डालो, सबसे सुख की होली खेलो तुम

    ©drinderjeet

  • drinderjeet 47w

    #Welcome 2021

    Flowers are welcomed because of lovely fragrance
    blessings are welcomed because of unconditional love
    fresh breeze is welcomed because it represents life
    Anything which leaves something good for life and humanity is welcomed and remembered forever
    Like each new year, 2020 came but knocked the World as
    a contaminated wave spreading the net of fear and death all over the World
    Oh dear God
    Please save your children from all the visible and invisible
    fears
    May this dawn 2021 come as a ray of hope, belief of survival and assurance of progress for the whole World
    May everyone get blessings of the almighty
    May everyone live peacefully and gracefully
    Welcome 2021.....

    ©drinderjeet
    @mirakee #mirakee @writersnetwork #writersnetwork #drinderjeet

    Read More

    Welcome 2021

    Flowers are welcomed because of lovely fragrance
    blessings are welcomed because of unconditional love
    fresh breeze is welcomed because it represents life
    Anything which leaves something good for life and humanity is welcomed and remembered forever
    Like each new year, 2020 came but knocked the World as
    a contaminated wave spreading the net of fear and death all over the World
    Oh dear God
    Please save your children from all the visible and invisible
    fears
    May this dawn 2021 come as a ray of hope, belief of survival and assurance of progress for the whole World
    May everyone get blessings of the almighty
    May everyone live peacefully and gracefully
    Welcome 2021.....

    ©drinderjeet

  • drinderjeet 52w

    #रेत का घर_
    भोर हुई अलसाये मन से आँख खुली
    उर में अद्भुत सी हलचल थी
    इक गीत उमड़ने को आतुर था
    कागज़ भी था, कलम भी थी
    भाव मगर सागर तट पर
    तस्वीर की भाँति बनते मिटते जाते थे
    वो रेत का महल मुझे याद आया
    मैंनें भाई के साथ वो
    मिल के बनाया था
    जाने किस बात पे भाई का मन बिफर गया
    खुद एक ही झटके में वो महल गिरा डाला
    और खुद ही चुपके से रोने भी बैठा वो
    अब भी वो सब होता है
    जीवन सपने बुनता है
    रेत के महलों जैसे
    फिर अपने कदमों से ही
    उन्हें रौंद देता है
    अन्तर बस इतना है
    अब आँसू बस मेरी ही आँखों में हैं तैरते
    काश, वक्त माँ जैसा होता
    मेरे आँसू भी कोई तो पोंछ ही लेता

    ©drinderjeet
    @mirakee #mirakee @writersnetwork #writersnetwork #drinderjeet

    Read More

    रेत का घर_

    भोर हुई अलसाये मन से आँख खुली
    उर में अद्भुत सी हलचल थी
    इक गीत उमड़ने को आतुर था
    कागज़ भी था, कलम भी थी
    भाव मगर सागर तट पर
    तस्वीर की भाँति बनते मिटते जाते थे
    वो रेत का महल मुझे याद आया
    मैंनें भाई के साथ वो
    मिल के बनाया था
    जाने किस बात पे भाई का मन बिफर गया
    खुद एक ही झटके में वो महल गिरा डाला
    और खुद ही चुपके से रोने भी बैठा वो
    अब भी वो सब होता है
    जीवन सपने बुनता है
    रेत के महलों जैसे
    फिर अपने कदमों से ही
    उन्हें रौंद देता है
    अन्तर बस इतना है
    अब आँसू बस मेरी ही आँखों में हैं तैरते
    काश, वक्त माँ जैसा होता
    मेरे आँसू भी कोई तो पोंछ ही लेता

    ©drinderjeet

  • drinderjeet 54w

    #बेख़ौफ़ी_

    बहुत बेख़ौफ़ हैं दीये हवाओं से हैं टकराते
    हवाऐं ठान लें तो पल में ही सब कुछ हवा कर दें

    ©drinderjeet
    @mirakee #mirakee @writersnetwork #writersnetwork #drinderjeet

    Read More

    बेख़ौफ़ी_

    बहुत बेख़ौफ़ हैं दीये हवाओं से हैं टकराते
    हवाऐं ठान लें तो पल में ही सब कुछ हवा कर दें

    ©drinderjeet

  • drinderjeet 60w

    #तकदीर_ Destiny
    हाथों की लकीरों में लिखा रहता है सब कुछ
    पर वक्त रहते हम इसे पढ़ते नहीं अक्सर....

    ©drinderjeet
    @mirakee #mirakee @writersnetwork #writersnetwork #drinderjeet

    Read More

    तकदीर_ Destiny

    हाथों की लकीरों में लिखा रहता है सब कुछ
    पर वक्त रहते हम इसे पढ़ते नहीं अक्सर....

    ©drinderjeet

  • drinderjeet 61w

    #खुशियाँ_
    खुशियाँ तो दौड़ कर तुम्हारे दर पे आयेंगी
    दुनियाँ से मोहब्बत का तुम जुनून तो भरो

    ©drinderjeet
    @mirakee #mirakee @writersnetwork #writersnetwork #drinderjeet

    Read More

    खुशियाँ_

    खुशियाँ तो दौड़ कर तुम्हारे दर पे आयेंगी
    दुनियाँ से मोहब्बत का तुम जुनून तो भरो

    ©drinderjeet

  • drinderjeet 63w

    #Time_ impact
    Time is a dominating factor in one's life
    The shades of Time turn grey and pink in the journey
    incidents change their impact in the rotation
    Don't run to catch the Time but follow and
    cross its path
    Good or Bad, Time will come and go
    Never let the small events overshadow your Life
    Never let the Time to come between you and your Smile
    Life is too short
    Life is to experience
    Life is to Live.......

    वक्त का क्या है, आता जाता रहता है सदा
    ज़िन्दगी वो ही है जो मुस्कुराते ही सदा गुज़रे

    ©drinderjeet
    @mirakee #mirakee @writersnetwork #writersnetwork #drinderjeet

    Read More

    Time_ impact

    Time is a dominating factor in one's life
    The shades of Time turn grey and pink in the journey
    incidents change their impact in the rotation
    Don't run to catch the Time but follow and
    cross its path
    Good or Bad, Time will come and go
    Never let the small events overshadow your Life
    Never let the Time to come between you and your Smile
    Life is too short
    Life is to experience
    Life is to Live.......

    वक्त का क्या है, आता जाता रहता है सदा
    ज़िन्दगी वो ही है जो मुस्कुराते ही सदा गुज़रे

    ©drinderjeet

  • drinderjeet 64w

    #गुरू_ वन्दन
    गुरू चरणों को नमन मेरा, जीना मुझको सिखलाया है
    मुझ, मिट्टी के पुतले को, पूर्ण इन्सान बनाया है

    जीवन की राहों पर चलना भी गुरू ही हमें सिखाता है
    ..सौ जन्मों में भी कोई, वो कर्ज़ चुका न पाता है

    अपने बच्चों के सुख भूल के, हमको प्यार दिया है
    जीवन भर न भूलें जो, ऐसा उपकार किया है

    सौ पुस्तक वांचो फिर भी सब ज्ञान अधूरा रहता है
    वो दिव्य सूत्र जो सफल बनाएं, गुरू ही हमें सिखाता है

    अवतार गुरू हैं ऋषियों के, सागर हैं वो संस्कारों के
    आशीष गुरू का मिले जिसे, वो शिष्य धन्य हो जाता है

    ब्रह्मा, विष्णु, शंकर, सब के ही, दर्शन का है रूप गुरू
    हों भाग्य शुभ तो ही मिलता है जीवन में कोई श्रेष्ठ गुरू

    आदर से शीष नवाता हूँ, सब गुरूजन को प्रणाम मेरा
    बस गुरू आशीष मिले मुझको, इतना ही हो इनाम मेरा

    ©drinderjeet
    @mirakee #mirakee @writersnetwork #writersnetwork #drinderjeet
    Happy Teachers Day to All Friends.........

    Read More

    गुरू_ वन्दन

    गुरू चरणों को नमन मेरा, जीना मुझको सिखलाया है
    मुझ, मिट्टी के पुतले को, पूर्ण इन्सान बनाया है

    जीवन की राहों पर चलना भी गुरू ही हमें सिखाता है
    ..सौ जन्मों में भी कोई, वो कर्ज़ चुका न पाता है

    अपने बच्चों के सुख भूल के, हमको प्यार दिया है
    जीवन भर न भूलें जो, ऐसा उपकार किया है

    सौ पुस्तक वांचो फिर भी सब ज्ञान अधूरा रहता है
    वो दिव्य सूत्र जो सफल बनाएं, गुरू ही हमें सिखाता है

    अवतार गुरू हैं ऋषियों के, सागर हैं वो संस्कारों के
    आशीष गुरू का मिले जिसे, वो शिष्य धन्य हो जाता है

    ब्रह्मा, विष्णु, शंकर, सब के ही, दर्शन का है रूप गुरू
    हों भाग्य शुभ तो ही मिलता है जीवन में कोई श्रेष्ठ गुरू

    आदर से शीष नवाता हूँ, सब गुरूजन को प्रणाम मेरा
    बस गुरू आशीष मिले मुझको, इतना ही हो इनाम मेरा

    ©drinderjeet