deoraazzhansda

www.instagram.com/deoraazzwords/

Shik liye hh kayse khaamosii se zawab doon

Grid View
List View
Reposts
  • deoraazzhansda 4w

    बात #१

    देखो बात कुछ ऐसी है ना कि ..
    जिस पर हमें गर्व था,
    आज उस पर हमें दर्द है ।

    -देवराज़
    ©deoraazzhansda

  • deoraazzhansda 5w

    कैसे ?

    जो‌ चेहरा धूप में मुस्कुराता है ,
    कैसे बताऊं ?‌
    वह चेहरा रात मे आंखें भी चूराता है ।

    जो आंखे धूप में खुशी झलकाती,
    कैसे बताऊं ?
    वह आंखें रात में आंसू भी छलकाती।

    -देवराज
    ©deoraazzhansda

  • deoraazzhansda 6w

    #fokat_ka_gyan 7

    एहसास और अफ़सोस...

    जिम्मेदारियों का एहसास अफ़सोस से पहले हो जाना चाहिए।
    क्योंकि,
    बहुत दर्द देती है वह पल ,
    जब एहसास और अफ़सोस साथ में हों ।
    -देवराज़
    ©deoraazzhansda

  • deoraazzhansda 7w

    तुम time pass हो ?

    किसने कह दिया तुम्हें,
    कि तुम time pass हो?
    अरे तुम तो मेरे किस्से के हिस्से में भी खास हो ,
    तुम तो हर पल मेरे जिस्म में बहती सांस हो ,
    तुम हर पल लगने वाली प्यास हो,
    गुस्से में भी हंसा दे वह मिठास हो ,
    ना जाने ,किसने कह दिया तुम्हें,
    कि तुम time pass हो ।

    हां, समय नहीं निकाल पाता में कभी कभी,
    क्योंकि नहीं खोना चाहता वह रिस्ता जो थोड़ी खास है ,
    ना जाने , किसने कह दिया तुम्हें,
    मेरा तेरे साथ रहना time pass है।

    - देवराज़

    ©deoraazzhansda

  • deoraazzhansda 12w

    Silence.

    Silence before "Bye" indicates that you don't know what to say but your heart does .

    ©deoraazzhansda

  • deoraazzhansda 18w

    सीधी बात..

    यकिन मानों "गलतफहमी" ही‌ एसी चीज़ है जो हमें अलग कर देगी ।

    ©deoraazzhansda

  • deoraazzhansda 18w

    Clear Talk

    Believe me "Misunderstanding" is the only thing which can separate us .

    ©deoraazzhansda

  • deoraazzhansda 29w

    समझ ?

    जिन लोगों को मैंने सबसे ज्यादा समझा ,
    उन लोगों ने ..... मुझे नहीं समझा ।।


    ©deoraazzhansda

  • deoraazzhansda 29w

    सच बताना ??

    ख़ामोशी से ज्यादा तकलीफ़ "तुम नहीं समझोगे!" देती है ना ?


    ©deoraazzhansda

  • deoraazzhansda 31w

    आखिरकार फिर खेला हमने इश्क़ का जुआ,
    ना जाने फिर मुझे क्या हुआ,
    शायद कुछ तो बड़ी गलती कर दी हमने,
    यूं ही नहीं मैं मांगता फिर रहा अपनी मौत की दुआ।
    ©deoraazzhansda