darpan

www.instagram.com/poet_darpan/

ग़ज़ल का जादू देखोगे ? ��

Grid View
List View
Reposts
  • darpan 14h

    हिज्र भुलाने में उसने कोई कमी नहीं छोड़ी,
    पत्थर दिल आंखों ने बिल्कुल भी नमी नहीं छोड़ी

    छोड़ी नहीं परिंदों ने झुकी हुई शाख़ की टहनी ,
    छोड़ दिया जाना था यकदम लाज़मी , नहीं छोड़ी..

    नाव पकड़ के ना-खुदा अजब नशशे में डूब गया
    जबके डूब चुका था हर इक आदमी, नहीं छोड़ी

    दर्पन

  • darpan 2d

    पीछे सहरा था और आगे जंगल था,
    बस तुम भी होती तो ख़्वाब मुकम्मल था

    झट से आ जाता था दिल की बातों में ,
    मैं भी सच में पहले कितना पागल था

    कायल था मैं एक लड़की के लहजे का,
    और पूछो मत किस दर्जे का कायल था

    धूप मुझे अंदर से चीर के जाती थी,
    दरिया होने से पहले मैं बादल था

    ख़्वाब मुझे आया है मेरे मरने पर,
    जीवन भर जो मेरी आँख से ओझल था

    उसका जिस्म ही काम आया सर्दी में,
    कहने को बिस्तर पे शॉल थी कम्बल था

    तुम तो इतनी जल्दी ऊब गए 'दर्पन'
    ये रस्ते का पहला ट्रैफिक सिग्नल था..

    दर्पन

  • darpan 3d

    इस तरह ख़्वाब में ना आया कर,
    बिस्तरों पर फूल खिल जाते हैं

    दर्पन

  • darpan 3d

    बस इतना याद है एक जिस्म.. रूह से जुदा हुआ,
    फिर उसके बाद मुझे नहीं ख़बर के क्या हुआ

    मैं छोटा होने का कोई लुत्फ़ ना उठा पाया
    मैं बड़े होने की ख़्वाईश में ही बड़ा हुआ..

    उसे कहीं और जाना न पड़ा खोने के लिए,
    वो अपने घर में ही इस क़दर लापता हुआ

    उसी का मलबा मेरी आँख में चुभ रहा है,
    जो एक दीवार गिर गयी ख़्वाब में हादसा हुआ

    तेरी ग़ज़लें दिमाग़ी दायरों से बाहर है 'दर्पन'
    पढ़ा नहीं जाता है तेरा कुछ भी लिखा हुआ

    दर्पन

  • darpan 1w

    सीधे दिल पर वार हुआ है, प्यार हुआ है
    तीर जिगर के पार हुआ है, प्यार हुआ है

    तितली दिल के बाग़ में बैठी रहती है,
    फूलों का त्यौहार हुआ है , प्यार हुआ है

    चेहरे पहले भी दिल को भाते थे पर,
    ऐसा पहली बार हुआ है , प्यार हुआ है

    तीन दफ़ा कह सकता हूँ मेरे यारों,
    प्यार हुआ है, प्यार हुआ है, प्यार हुआ है

    पागल तो आवाज़ भी करती थी उसकी,
    पर जबसे दीदार हुआ है, प्यार हुआ है

    'दर्पन' कोई ख़्वाब में खोया रहता है,
    दरिया से दीवार हुआ है, प्यार हुआ है

    दर्पन ❤️

  • darpan 1w

    दुनिया के तमाम मुश्किल सवाल,
    पूछो इश्क़ में पागल दीवानों से..

    लड़कियों को कोई नाप नहीं सकता
    सूरत और सीरत के पैमानों से ..

    दर्पन ❤️

  • darpan 2w

    इश्क़ में जीतना ही सब कुछ नहीं होता
    इश्क़ में हारना भी बड़ी बात होती है ..

    दर्पन

  • darpan 2w

    ऐसा मौका आता है इस ज़िन्दगी में बार बार,
    ग़म दख़ल देता है दिल की हर ख़ुशी में बार बार

    बार बार इक रौशनी आवाज़ देती है मुझे,
    घूम कर आ जाता हूँ उसकी गली में बार बार..

    कौन गुम हो जाता है ग़ज़लों के तयख़ाने में 'दर्पन'
    तुम किसे यूँ ढूंढते हो शायरी में बार बार

    दर्पन

  • darpan 2w

    कहीं तो मेरे यार रौशन नाम करो,
    इश्क़ नहीं करना है तो कुछ काम करो

    नेकी करो तो दूजे हाथ को ख़बर ना हो,
    ज़ुर्म अगर करना है तो खुले आम करो

    'दर्पन' कर लेगा फ़नकारी दुनिया वालो,
    आप सभी जाकर थोड़ा आराम करो

    दर्पन ❤️

  • darpan 2w

    जब होती है बेचैनी, हँस देता हूँ ..
    हँसना ही तो हल है जी , हँस देता हूँ

    कभी कभी तो मुझको गुस्सा आता है,
    उसमें भी मैं कभी कभी हँस देता हूँ

    ये मेरी ख़ूबी है या फिर कमज़ोरी?
    रोते-रोते बीच में ही हँस देता हूँ

    सब नाराज़ी मिट्टी में मिल जाती है ,
    वो बस कहती है सॉरी , हँस देता हूँ

    कितनो को इस बात पे रोना आता है,
    ये जो मैं यूँ घड़ी-घड़ी हँस देता हूँ

    दुनिया जैसे कोई जुमला हो दर्पन,
    जब 'दुनिया' बोले कोई , हँस देता हूँ ..

    'दर्पन'