chiikuuu

words are my life��Rahul Kumar Giri, insta- Rahulkumargiri.9430

Grid View
List View
Reposts
  • chiikuuu 24w

    उस दिन तुम्हारी आंखें,
    कैसे रोक पाएंगी,
    उन्न आंसुओ के बाढ़ को,
    जब तुम्हारा पति पढ़ेगा,
    तुम्हारे सामने,
    तुम पर लिखी हुई,
    मेरी कवताएं,
    और वो कहेगा,
    कितनी पत्थर रही होगी,
    इस कविता की नायिका..!!
    - राहुल

  • chiikuuu 30w

    एक-एक करके
    हम दो से एक हुए,
    और अब
    आधे-आधे रहेंगे हमदोनो
    किसी दूसरे के लिए..!!
    -राहुल

  • chiikuuu 31w

    जब भी
    "अलविदा" लिखने के लिए
    लिखा "अ"
    हाथ कांपने लगे,

    "अ" के अकेलेपन को हरबार बदलकर "आ" लिखा
    और पूरा किया वाक्य "आ जाओ"

    पर
    अब तुम कभी नहीं आ सकती
    और
    मै कभी नहीं लिख सकता "अलविदा"
    - राहुल

  • chiikuuu 33w

    अक्सर मै पढ़ता हूं अपने प्रिय से हुए वार्तालाप,
    यह मेरा सबसे प्रिय साहित्य है,
    और..... प्रिय, मेरा सबसे प्रिय कवि..!!
    -राहुल

  • chiikuuu 38w

    यह कहना कि मेरी बहुत सारी प्रेमिकाएं है,
    दरअसल
    यह जताता हैं कि "प्रेम" मेरे जीवन में कितना कम हैं..!!
    - राहुल

  • chiikuuu 39w

    अरे ओ झुमके वाली
    बात पसंद- नापसंद का है ही नहीं,
    अब मसला मन का हैं और मन ही नहीं हैं..!!
    -राहुल

  • chiikuuu 41w

    किनारे घट रहे हैं,
    मेरे जमीन के,
    घटते समय के साथ,
    कुछ घट रहा तो,
    कुछ बढ़ रहा,
    जो कुछ ठहरा हैं,
    वह भी
    मेरे पहुंच से बाहर तो नहीं!!!
    कितना बचा लू???
    -राहुल

  • chiikuuu 51w

    एक तुम हो एक मै हूं,
    एक कल्पना"हम" हैं,
    तुम्हारे-मेरे और हम की इस कल्पना के मध्य,
    परिवार की आस समाज जाति गोत्र क्षेत्र संस्कृति,
    रीति रिवाज मर्यादा आदर्श लोकलाज का भय,
    इन तमाम तत्वों से बनी,
    एक लम्बी चौड़ी मजबूत अभेद दीवार है,
    जो ठीक हमारे विरूद्ध हैं,
    पहले लगता था तुम्हारे मेरे बीच केवल प्रेम हैं,
    अब लगता हैं जैसे एक जमाना हैं.....!!!
    -राहुल

  • chiikuuu 53w

    कमाल की मोहब्बत की है,
    तुमने मुझसे,
    और
    मैंने चाय से..!!

  • chiikuuu 57w

    हे राधे
    तुम प्रेमपत्र लिखना,
    मै लिखूंगा कविताएं,
    तुमको केवल मै पढ़ूंगा,
    मुझको पढ़ेगी जगत की प्रेमिकाएं,
    प्रेमपत्र निजी हैं,
    मगर कविताएं सार्वजनिक घोषणा है,
    तुम्हारे प्रति मेरे प्रेम का,
    मै चाहता हूं,
    संसार की सारी प्रेमिकाएं,
    उसे पढ़े तुमसे ईर्ष्या करे,
    और
    तब देखना चाहता हूं मैं,
    तुम्हारे चेहरे पे गुरूर,
    संसार के सबसे पागल प्रेमी द्वारा चाहे जाने का...!!!
    - राहुल