charu_pandey

महफिल-ए-कलम

Grid View
List View
Reposts
  • charu_pandey 2w

    ज़मीनी दूरियां दिल को नज़दीक लाती है।

    ©charu_pandey

  • charu_pandey 2w

    इंसान या तो समझदार हो सकता है या तो प्रेमी
    दोनों का एक होना संभव नहीं ।
    ©charu_pandey

  • charu_pandey 2w

    हर चेहरे में उसका नज़र आना
    हजारों की भीड़ में
    सिर्फ उस पर ही नज़र टिक जाना
    दोनों प्रेम की अवस्थाएं हैं ।
    ©charu_pandey

  • charu_pandey 2w

    हुजूम - भीड़

    Read More

    कभी इंसान हुजूम में भी तन्हा रह जाता है।

  • charu_pandey 2w

    "तुम मुझे छोड़कर नहीं जाओगे" ये मेरे हिसाब से एक बे बुनियादी सवाल है क्योंकि छोड़कर जाने वाले शख्स को रोका नहीं जा सकता और जो रहना चाहता है उसके ज़हन में जाने का कोई सवाल ही नहीं होगा...
    ©charu_pandey

  • charu_pandey 5w

    तुम्हारा साथ मेरी किस्मत में ना हो पर तुम्हें हम बहुत याद आने चाहिए इतने आने चाहिए कि तुम्हें मेरे दर्द का अंदाजा हो।
    ©charu_pandey

  • charu_pandey 5w

    उम्मीद इंसान को जिंदा भी रखती है और खत्म भी कर देती है।
    ©charu_pandey

  • charu_pandey 6w

    संसार के बाजार में रिश्ते बिक रहे हैं
    दहेज: एक सामाजिक अभिशाप

    Read More

    लड़के के मां-बाप अपने कुलदीपक की बोली लगा रहे हैं कितने में बिक ना है यह तय कर रहे हैं और लड़की के मां-बाप खरीद की रकम इकट्ठा करने में हर रोज ख्वाइश के चूल्हे में जीविका जला रहे हैं क्योंकि...
    अच्छे घर के लड़के महंगे जो बिकतें है।
    ©charu_pandey

  • charu_pandey 6w

    sometime harsh truth kills you deeply.

    ©charu_pandey

  • charu_pandey 6w

    महिलाओं की सुरक्षा ना तो एक गंभीर मुद्दा है
    और ना ही चर्चा का विषय
    मात्र प्रतिदिन अखबारों में आने वाली खबर के सिवा।

    ©charu_pandey