ashmita_sia

www.instagram.com/ashmita_sia/

Creating my world to spare myself from all the pain and guilt

Grid View
List View
  • ashmita_sia 1w

    समझना ज़िन्दगी को
    की इसकी इन परतो को
    इन शर्तों को
    की एक दिन सबको ढल जाना है।
    कुछ पाना है, कुछ खोना है।
    लड़ना है, हारना है और जीतना भी है।
    की एक दिन हर पर्त के पीछे छुपी हुई इस ज़िन्दगी को समझना है।
    क्या बचेगा? कौन जाने?
    की मेरे हिस्से
    कैसी परते है!
    न जाने कितनी और कैसी शर्ते है।


    ©ashmita_sia

  • ashmita_sia 2w

    ना मैं उससे ये वादा करूँगी की उसकी पसंद ही मेरी पसंद होगी। न उम्मीद करूँगी।
    मगर उससे मोहब्बत बेशुमार करूँगी शायद।
    जो नही था, कुछ पल के लिए ही सही उसका आना हर उस चीज़ को पूरा होने का एहसास दिलाता है।



    ©ashmita_sia

  • ashmita_sia 3w

    मुझे सुनना था उससे की उसकी
    रचना मेरे लिए है।
    मुझे न जाने क्यों सुनना था
    ये
    शायद उसकी लबो से
    अपना हाल-ए-दिल सुनना था


    ©ashmita_sia

  • ashmita_sia 3w

    Uski chamak ne
    Mere pyaar ko maat de di





    ©ashmita_sia

  • ashmita_sia 4w

    खिले हुए फूलों की खासियत सिर्फ एक माली को होती है।
    देखने वाला कहाँ समझ पाएगा उसका सफर।
    ©ashmita_sia

  • ashmita_sia 4w

    मेरी काश और कोशिशों के बीच
    ज़िन्दगी का एक सुनहरा मोड़ आगया
    ©ashmita_sia

  • ashmita_sia 4w

    Healing

    It's not easy for any of us to forget and walk past people, whom we have loved or adored unconditionally at one point in our lives. At times no words will sooth you and you'll crave for that human badly. Your emotions are valid, but you need to realise that the person is not, in your life. So everytime you want to run back to him/her teach yourself to be STRONG! Tell yourself that you need more time to heal. Reading old conversation, revisiting old pictures, all of this is Normal. But make sure while you do this, you also learn not to get triggered by these things. Once you adapt this behaviour, you'll be surprised to see a new version of you!


    ©ashmita_sia

  • ashmita_sia 6w

    मेरा उसके घर जाना जैसे उसके लिए कोई त्योहार हो।
    ©ashmita_sia

  • ashmita_sia 6w

    Gone

    Love,attraction or infatuation
    I don't understand now what it was
    But it faded without warnings
    Leaving voids
    I don't know how to fill
    I sit and think,
    not about us
    But about why life takes away from us precious people
    and still demands to move forward
    ©ashmita_sia

  • ashmita_sia 12w

    स्त्री

    ये कैसी दशा है तेरी सीता
    क्यों ये पुरुषो के समाज का साया है
    तुझपे?
    ये कैसी दशा है तेरी दुर्गा
    किसने चुरा लिया तेरा त्रिशूल?
    ये कैसी कहानी रच रहा है
    संसार की परम्परा
    द्रौपदी?

    ना कोई शर्म जानता है
    ना कोई हद मानता है
    ये तुझे मर्यादा के वस्त्र में धक कर
    उसे खुद ही उतरता है ।

    ये पुरषों का समाज क्यों तेरे
    कंधे पे रख बंदूक
    पीछे खड़े होकर
    खुद को मर्द मानता है ??

    क्यू इनकी भीड़ ने
    किया है तुझे अकेला
    कहां है तेरी सेना?
    कहां है तेरा त्रिशूल?

    तू रच अपनी कहानी फिर से
    ये तेरी भी मिट्टी है
    ये तेरी भी मिट्टी है।।
    ©ashmita_sia