Grid View
List View
Reposts
  • ankit_p 18w

    किसी की बिन मांगी मुराद हो गया वो शख्स,
    जिसे खुदा से हमने हर आयत में माँगा था ।
    ©ankit_p

  • ankit_p 27w

    शाम जाते - जाते मुझसे एक बात कह गयी,
    सूरज उगता कैसे, कानो में चुपके से ये राज़ कह गयीं।
    ढल के उगने का विश्वास दे गई
    बढ़ते अंजाम को आगाज़ दे गई
    शाम जाते - जाते मुझसे ये बात कह गयी,
    की सुबह जरूर होगी ये विश्वास दे गयीं।
    ©ankit_p

  • ankit_p 28w

    मै चाँद को अपनी बाहों में लिए सितारे देखने निकला हूं
    में अपने इश्क़ के निशान रेत पर छोड़ते निकला हूं
    मेरी समंदर से साँठ गाँठ है उन्हें मिटाने की
    की कोई चुरा ना ले तरकीब उस चाँद को पाने की।
    ©ankit_p

  • ankit_p 30w

    हमने पूरी रात जाग एक सफर तय किया,
    उनके साथ सुबह का सूरज देखने को।
    ©ankit_p

  • ankit_p 30w

    शहर से दूर एक रास्ता है जो चाँद तक जाता है
    में निकल पड़ा हूं उस रास्ते पर ही, जो तेरे घर तक जाता है।
    ©ankit_p

  • ankit_p 32w

    आज आजाद हुए हम उस कैद से जिसे हमने खुद बनाया था,
    आज हमने वो आखरी खत भी जला दिये।
    ©ankit_p

  • ankit_p 41w



    हम अनदेखा कर रहे है आजकल चाँद को,
    पर सच बात तो ये है, की
    हमे अब भी महोब्बत तो उसी से है।
    ©ankit_p

  • ankit_p 42w

    बर्बाद है हम तो, लड़ने का हमें क्या डर,
    गर हार भी गए तो क्या, हमारे पास हार तो रहेगी।
    ©ankit_p

  • ankit_p 45w

    हम भी रुलाये गए है कई रातो तक।
    कुछ चाँदनी तुम्हे भी भीगोनी होगी।।
    पहुँचे है हम जल जल कर यहाँ तक,
    मेरे साथ होने के लिए कुछ कुर्बानी तो तुम्हे भी देनी होगी।
    औऱ अगर हम मान जाए यूँ ही जो ।।
    तो तुमसे मिली बेवफाई की ये तौहीन होगी।
    ©ankit_p

  • ankit_p 49w

    तुम क्यों छुप रहे बच रहे हो यू,
    हम यहाँ आईना लिए थोड़े न खड़े है।
    ©ankit_p