anandsardar

����सब का मंगल हो����

Grid View
List View
Reposts
  • anandsardar 4w

    परीजैसी देवी
    ����

    Read More

    रिश्ता तेरा और मेरा
    मृगतृष्णा जैसा ही तो है
    जो दूरसे दिखता तो है
    लेकिन क़रीब से देखो
    तो कुछ भी नही है
    ©anandsardar

  • anandsardar 5w

    @rangkarmi_anuj अनुज भाई

    बहुत से पुराने दोस्त यहासे चले गए है
    बस हम कुछ ही बाकी है
    सब साथ है तो यहां लिखने का मजा है
    लिखते रहिए
    पढ़ते रहिए
    ����

    Read More

    अनुज भाई

    रिश्तों नातो दोस्तो से भरा
    परिवार है मिराकी
    आप जैसे लेखक तो शान है यहां की
    न जाने कितनों ने आपसे लिखना सीखा है
    हर एक विषय पर लिखना तो
    हमने भी आपसे ही सीखा है
    जब भी दिल करे आप लिखते रहो
    आज की है फिर कभी जाने की बात ना करो
    जियो जी भर के भाईजी
    खुश रहिए
    लिखते रहिए
    ✍✍
    ©anandsardar

  • anandsardar 5w

    @my_sky_is_falling प्रदीप भाईजी
    आपकी आज की पोस्ट पढ़कर ये सब लिखने का मन किया तो लिख दिया भाईजी
    कुछ गलती हुई हो तो माफ कीजिएगा
    आप मिराकी की जान है
    ऐसे ही हमेशा लिखते रहिएगा
    ढेर सारा प्यार आपको
    जुग जुग जियो और ऐसे लिखो की
    युग युग लोगोके दिलों में रहो
    ������
    मेरे प्यारे भाई @my_sky_is_falling

    Read More

    प्रदीप भाई

    हौसले को तेरे ये दिल सलाम करता है
    बनू मैं तेरे जैसा ये मेरा दिल कहता है
    वैसे तो बहुत सारे लोग है दुनिया मे
    पर उन सबसे तू अलग लगता है
    कभी हँसाता है कभी रुलाता है
    तो कभी दुनिया का इतिहास सिखाता है
    गलत बात करे जो कोई तुझसे
    उसे भी बड़े प्यारसे समझाता है
    खुदसे ही लड़कर तू
    आज जिंदगी का सरदार बना है
    बड़ा संघर्ष करके तूने
    अपने व्यक्तिमत्व को ऐसा जबरदस्त बनाया है
    जब भी खुदसे नाराज होता हु हमेशा तुम्हे याद करता हु
    फिर उठता हु और आगे के सफर के लिए तयार होता हूं
    भाई मेरे प्रदीप तू अपने नाम जैसा ही है
    जो जिंदगी के हर पथ पर प्रगति का ही दीप जलाता है
    लिखते रहो हमेशा आप तो मिराकी की शान है
    और आपकी प्यारी प्यारी कमेंट से आती
    मेरे कलम में जान है
    ©anandsardar

  • anandsardar 8w

    ऐसी मुलाखातो का सिलसिला अब कौन रोक सकता है
    बस ये एक ही बात होती है हर रोज
    कही जिंदगी भर के लिए ना होजाए ये डर लगता है
    ����परीजैसी देवी����

    Read More

    अब ना उनका दीदार होता है
    ना कोई तस्वीर दिखती है
    लेकिन जब आंखे बंद करता हूं
    तब ना जाने क्यों
    उनसे मुलाखात हो ही जाती है
    ©anandsardar

  • anandsardar 9w

    प्यार करते हो किसीसे हद से ज्यादा
    बड़ी अच्छी बात है

    लेकिन किस्मत में नही है वो
    फिर भी उसे पाने की जिद करते हो
    बड़ी बुरी बात है

    माँ बाप ने दी है ये अनमोल जिंदगी
    उसे यूँही क्यो किसीके लिए हम खराब करे

    प्यार तो है खुदा की ईबादत
    तो क्यो ना उसे दिलसे दुआँ में याद करे

    ©anandsardar

  • anandsardar 10w

    बड़ी खूबसूरत है ये जिंदगी
    बस हम ही कुछ ज्यादा सोचते रहते है
    जो पूरे नही होंगे कभी
    वो ख्वाब देख लेते है
    और फ़िर नाराज हो जाते है
    ©anandsardar

  • anandsardar 10w

    कुछ गलत कहा हो तो माफ़ कीजिएगा
    कुछ लोग जो 2 सालोंसे यहां मिराकिपर अपने साथ थे
    आज वो यहां नही है
    बस आज उनकी कमी महसूस होई तो ये लिख दिया
    ������

    Temporary post

    Read More

    सफर ए मिराकी बड़ा शानदार रहा है आज तक
    भाई बहन दोस्त सब मिले है यहांपर
    जब भी हम कुछ लिखते है तो इनकी coment का हमेशा ही इंतजार करते है
    अपनी पोस्ट कोई और पढ़े या ना पढ़े लेकिन कुछ लोग जो होते है वो चाहे कितने भी बिजी क्यो ना हो
    अपनी पोस्ट को पढ़ते ही है अपनी कमेंट भी देते है
    और यही लोग है जिनकी वजह से हम मिराकिपर पोस्ट करते रहते है
    लेकिन जब यही लोग बिन बताए मिराकी छोड़कर जाते है
    तब बड़ा दुःख होता है
    मैं ये बात मानता हूं कि सबको अपनी अपनी लाइफ है अपने काम है
    फिर भी मैं यही कहना चाहूंगा कि जब भी वक्त मीले तो थोड़ा लिखा कीजिए और पोस्ट को पढ़ा कीजिए अपनी कमेंट दिया कीजिए
    आप सभी के यहां होने से मिराकी की सुंदरता और भी बढ़ती है

    ©anandsardar

  • anandsardar 13w

    कलम उठाते ही नाम उसका हमेशा लबों पर आता है
    कभी समझ ही नही आया कि मेरी कलम का उससे क्या नाता है
    ऐसी है ये मेरी कलम
    जो लिखना चाहे तो उसके ही यादों का मौसम बन जाता है

    Read More

    यादें तुम्हारी मुझे
    फिरसे यहां खिंच लाती है
    और इनकी गुस्ताखी तो देखो
    कोई नही हो तुम मेरी
    हमेशा मुझे यहीं समझाकर जाती है
    ©anandsardar

  • anandsardar 26w

    #umeed67
    पहली बार किसी श्रुंखलामे भाग ले रहा हूं

    आशा है आपको पसंद आए����

    @_harsingar_ जी
    आपकी सुंदर रचना पढ़कर ये लिखने का ख्याल आया है जी
    ����

    Read More

    मानव और प्रकृति

    निर्माण किया है प्रकृति ने तुम्हारा
    तुम उससे आंखे चुरा न पाओगे

    चाहे जितने छुपाले तू दिल मे राज अपने
    प्रकृतिसे ये कहा छुप पाएंगे

    आती जाती हर सांस की गवाह है प्रकृति
    जैसी तेरी सोच होंगी वैसी ही बनेगी
    तेरे जिंदगी की आकृति
    ©anandsardar

  • anandsardar 27w

    आत्मविश्वास को खोओगे
    तो जिंदा लाश बन जाओगे

    Read More

    ए इंसान तूम भी बड़ा कमाल करते हो
    खुदपर तो भरोसा नहीं करते
    और सारे लोग तुमपर भरोसा करे ये चाहते हो
    ©anandsardar