Grid View
List View
Reposts
  • anamika_ghatak 34w

    निम्नचाप

    हृदय का निम्नचाप आँखों के रास्ते बारिश उतार देता है
    मेघों को ये भान है के गरजना कहाँ है बरसना कहाँ है
    ©anamika_ghatak

  • anamika_ghatak 35w

    कच्ची बातें

    'ख़ुदा हाफ़िज़' ये दो हर्फ़ ही सच्चे निकले
    बाकी सारी बातें तो उसकी कच्चे निकले
    ©anamika_ghatak

  • anamika_ghatak 38w

    सूरज

    धरती को जल के सुरज बनने में देर न लगेगी
    जो इस तरह पंक्तियों में चितायें सजी रहेगी
    ©anamika_ghatak

  • anamika_ghatak 38w

    सूरज

    धरती को जल के सुरज बनने में देर न लगेगी
    जो इस तरह पंक्तियों में चितायें सजी रहेगी
    ©anamika_ghatak

  • anamika_ghatak 40w

    असर ए इश्क़

    असर ए इश्क था तो जुबा बंद थी
    ख़ासारा ए इश्क़ हुआ ज़ुबाँ ज़ह्र कहर हुआ
    ©anamika_ghatak

  • anamika_ghatak 41w

    दावेदार

    इस सूने मकां का दावेदार तो बहुत है
    पर रिहाइश के लिए पूछो तो कोई राज़ी नहीं
    मकां घर नहीं रहा अब फ़क़्त ईंट का मलबा है
    मतलब के रिश्ते हैं रिश्तो का कोई मतलब नहीं
    ©anamika_ghatak

  • anamika_ghatak 41w

    उम्मीद

    उम्मीद की किरण ही वो सवेरा लाता है
    जिसे अवसाद का अंधेरा कभी निगल लिया होता है
    ©anamika_ghatak

  • anamika_ghatak 41w

    परछाईं

    परछाईं परछाईं भटक रहे हैं
    तेरे वास्ते
    हर साये में तू ही नज़र आयी
    पूरे रास्ते
    ©anamika_ghatak

  • anamika_ghatak 43w

    सूरज

    डूबते हुए सूरज से आंखें ना मिलाना कभी
    खुद डूब जाएगा और तुम्हें अकेला करके जाएगा
    ©anamika_ghatak

  • anamika_ghatak 43w

    घर

    मकान की कीमत ईंट पत्थरों से नहीं
    गर पड़ोसियों को देखकर लगाया जाय
    शहर की शान ये जो महलनुमा घर
    वो कौड़ियों के दाम बिक जाय
    ©anamika_ghatak