amar_singh61090

9598254036 ig. quotes_of_amr

Grid View
List View
Reposts
  • amar_singh61090 17w

    कोई नहीं हैं हमारा जिंदगी में,
    ये बात हमारे दिल में बिठा देतीं हैं,
    किसी की पल भर की मुहब्बत,
    हमें लोगों पर शक़ करना सीखा देतीं हैं।
    ©amar_singh61090

  • amar_singh61090 19w

    Want to make ur write-up immortal with my literature project
    On awesome topic प्यार-दिल का एहसास love the heart feelings भूमि, and many more topics

    Entry FREE

    Contct 9 5 9 8 2 5 4 0 3 6
    Insta quotes_of_amr
    ©amar_singh61090

  • amar_singh61090 19w

    आज भी ज़रूरत है मुझे उसकी,
    ये बात वो भी जानती हैं,
    पर मुझसे दूर रहने को ही,
    जाने क्यु वो बेहतर मानती हैं,

    में उदास हूँ दर्द भी हैं मुझे,
    कभी हाल न पूछती हैं,
    जबकि हर हाल की ख़बर हैं उसे,

    मेरी चाहत और उसकी नफ़रत के बीच,
    फासला बहुत बढ़ गया है,
    मेरी जगह नहीं उसकी जिंदगी में,
    उसके दिमाग में जाने क्यु ये चढ़ गया हैं।

    धड़कने रुक सी जाती हैं,
    जब भी उसे भूलने का ख़्याल आता है,
    क्या उसकी याद बिना रह पाउँगा,
    हरबार मन में बस यहीं सवाल आता है,

    मैं उसके बिना रह तो रहा हूँ,
    पर दिल में आज भी वही रहती हैं,
    बस उसी चाहत है दिल की,
    मेरी धड़कन हमेशा यहीं तो कहती हैं,

    पर इंतज़ार ये मोहब्ब्त का,
    दर्द बहुत ही दे जाता है,
    हरपल उसकी याद होती है सीने में,
    टूटने के बाद भी दिल कहाँ आराम कर पाता है।
    ©amar_singh61090

  • amar_singh61090 20w

    दिल दुःखता हैं मेरा भी,
    जब कोई प्यार हमकों सिखाता हैं,
    निभाना कैसे हैं प्यार किसी से,
    ये सब हमकों बतलाता हैं,
    अरे समझाओ इन नादानों को,
    मैं ख़ुद
    इश्क़ समझने में, बेहिसाब हूँ,
    अगर हैं ये मोहब्बत के पन्ने,
    तो फ़िर मैं, पूरी की पूरी क़िताब हूँ।
    ©amar_singh61090

  • amar_singh61090 20w

    एक बारिश की याद हैं,
    एक तन्हाई का साथ हैं,
    एक पीले सूट में धुंधली सी तस्वीर हैं,
    औऱ एक हमारी बेकार सी तकदीर हैं,
    एक तोहफ़े की अंगूठी हैं,
    औऱ एक जिंदगी जो हमसे जाने क्यु रूठी हैं,
    एक मोहब्ब्त हैं उसी से मेरी इबादत हैं,
    उसी को लेकर हज़ार मेरी शिक़ायत हैं,
    उसे पता नहीं एक भी,
    शायद यहीं मेरी शराफ़त हैं।

    एक मेरी मोहब्ब्त हैं,
    उससे हज़ार मेरी शिकायत हैं,
    पर उसको पता नहीं एक भी,
    शायद यहीं मेरी शराफ़त हैं,

    वो पूछी की,
    तुम्हें क्या फ़र्क़ पड़ता है मेरे दुःखी होने से,
    वो पूछी मतलब,
    उसे पता हैं मुझें फ़र्क़ पड़ता हैं।
    ©amar_singh61090

  • amar_singh61090 21w

    Second I'd

    This one is my second I'd because for first I have some commenting issue ... Please support and give me instructions how to use this plateform
    ©amar_singh61090