Grid View
List View
Reposts
  • alfaazzmere 12h

    ;

    भूल जाओ उसे
    जो भूल गया हो तुम्हें :)

  • alfaazzmere 6w

    तेरे लिए तो हुमेसा दुआ ही निकलेगी । Amen.
    #hindipoet #hindiwriter #hindipoem #alfaazzmere

    Read More

    पता है आज मैं मौत को छूँ के आया
    वही गली उसी खिड़की को रूबरू कर आया
    वही यादें वही बातें एक बार फ़िर जी आया
    ख़ुदा से तेरी सलामती की दुआ भी कर आया
    मगर मुझ बेख़बर को ये इल्म ही नहीं रहा
    की मैं अपनी ही क़ब्र खोद आया ।।
    ©alfaazzmere

  • alfaazzmere 6w

    तो ऐसा है कि उस मोहब्बत पे उम्मीद थी
    मगर अब उस उम्मीद पे मोहब्बत नहीं ।।
    ©alfaazzmere

  • alfaazzmere 6w

    ख़्वाहिश

    तेरी ख़ुशियाँ ही मेरी ख़्वाहिश है।
    ©alfaazzmere

  • alfaazzmere 11w

    ख़्वाबों की परी

    पता है आज़ फिर तुम मेरी सपनो में आयीं थीं
    और एक बार फिर मुझे सुबह से नफ़रत हो गयीं।।
    ©alfaazzmere

  • alfaazzmere 12w

    मधुशाला

    शामियाने में बैठें हम
    रात भर तेरी यादों के साथ बिताये
    ज़ाम ख़ाली थीं मगर नशे में थे हम
    अब ये बात किसी को कैसे बतलायें
    ©alfaazzmere

  • alfaazzmere 13w

    I am exhausted from trying to be stronger than i feel.

    Read More

    Peace

    I can only find peace in your arms.
    ©alfaazzmere

  • alfaazzmere 16w

    Kehne me aasan hota hai
    Alvida, khuda hafiz, dobara mat milna
    Magar khuda kasam wo isqk nahi hota hai…

    Read More

    Last seen years ago… :)

  • alfaazzmere 16w

    ज़िंदगी हमारी है फ़ैसलेय भी हमारे होने चाहिए

    Read More

    हिम्मत

    मेरी ज़िंदगी मुझे कहाँ ले जा रही है
    मुझे कुछ पता नही
    बस इतना पता है की तुझसे कहीं दूर ले जा रही हूँ
    चाहता तो नही मगर क़रीब आने का बहना भी नहीं है
    सच कहूँ तो हिम्मत ही नहीं तुझसे कुछ कहना की
    वैसे कहना तो बहुत कुछ है
    मगर जो भी है उसे खरब नही करना चाहता
    जितना भी है उसे बर्बाद नही करना चाहता
    मेरी ज़िंदगी मुझे कहाँ ले जा रही है
    मुझे कुछ पता नही ।।
    ©alfaazzmere

  • alfaazzmere 16w

    क़रीब

    बहुत क़रीब आकर बताया उसने
    कि तुम्हारी नहीं हूँ मैं ।।