Grid View
List View
Reposts
  • akanksha123 12w

    मित्र

    तुम गिरो तो संभाला मै करू,
    मै उलझुं तो संवारा तुम करो_
    यूँ तो बहक जाती हैं हुकुम
    दिशायें कई बार-
    कभी रुख मोड़ने की पहल तुम करो
    कभी हम करें!!
    आओ इन कड़ियों को बरकरार रखे❤
    ©akanksha123

  • akanksha123 13w

    जय श्री कृष्णा ✨

    तुझसे सब शुरू.
    तुझमें ही खत्म है
    एकमात्र सहारा तू मोहन'
    तुझको मेरा सब कुछ समर्पण है'
    है , अर्पित करने को पुष्प प्रिये
    चरणों में इन्हें स्थान मिले्
    जब तक जीवन चले
    बस तेरे नाम से नाम चले !!
    ©akanksha123

  • akanksha123 16w

    मेरा चाँद तू!!! मेरा नूर तू_!!!
    जो चाहूँ मै वो सुकून तू_!! ❤
    दामन तेरा खुशियों से भर जाये
    हर रास्ते खुद खुल जाये्
    जहाँ रखे कदम तू
    मेरी परछाई तुझमें छा जाए_!!!❤
    ©akanksha123

  • akanksha123 33w

    आंँचल में है दूध और आँखों मे है पानी,
    माँ इतनी बेबस है जिसकी यही है कहानी..
    रौंदी है इच्छाएँ और बंद है जुबानी,
    ये खेल है मझधार है _--? ¿
    डूबती अब राह है, जहाँ सूखा है पानी..
    घिरी आशाएँ दिल को झकझोर देती है,
    रुकती है निगाहें जब अपनों पर आकर
    बंदिशे सभी तोड़ देती है..
    कैसे हो स्वीकृति मै घर पर बैठ जाउँ
    लगा के ताले अपने जीवनी पर,
    महामारी के संहार में समाउं...
    इस से वह डर नहीं जो है मासूम की छिनती रोटी से
    बंद पडे़ है आगाम सारे भय है देश फिरौती से...
    जर्रे की मोहताज प्रजा_भुखमरी का शिकार है,
    सशक्त नेता कहते कोरोना का परिणाम है ..
    ©akanksha123

  • akanksha123 34w

    भूल जाती हूँ...
    रुखे नग़मों को
    लोग समझते हैं
    हमें बुरा नहीं लगता ☺्
    ©akanksha123

  • akanksha123 34w

    मुझे अक्सर.
    अकेला छोड़ देने वाले भी,
    " मेरी मुस्कान की कीमत पूछते हैं ✨
    ©akanksha123

  • akanksha123 34w

    हम यूँ ही हँस जाते हैं
    अपनी नसीहत देख कर.
    लोग भ्रम में आ जाते हैं
    हमारी मुस्कुराहट देख कर !!!
    ©akanksha123

  • akanksha123 34w

    रुखसत होने लगी हूँ, जो खुद से,
    जमाना, बेगाना सा लगता है !!!
    ©akanksha123

  • akanksha123 35w

    मुकम्मल कर दूं लफ़्ज़__ नाम तुम्हारे..
    क्या कहें __इतने एहसान तुम्हारे..
    यूँ न शरमाया करो जान हमारी..
    जाने लगती है जाँ__हमारी
    ©akanksha123

  • akanksha123 36w

    इक ख्याल है वो ,
    जो हर वक्त मुझसे टकराता है...
    यक़ीनन मेरे पिता का साया है वो,
    जो बेवजह दमक फेर जाता है !!! ❤
    ©akanksha123