abr_e_shayari

world is far better than you can think�� ig- shaam_shayara_shayari (follow kro jao)

Grid View
List View
Reposts
  • abr_e_shayari 19h

    सभी शेर अपने में स्वतंत्र है!
    शेर १- जब तक कोई बड़ा हादसा नहीं होता , तब तक यहां नजरंदाज किया जाता है!
    शेर २- सच कह कर देखिएगा, यह २०२१ है !
    शेर ३- मुआवजा देकर आदमी की गिनती की जाती है! उसके पहले .... कोई नहीं पूछता!

    Read More

    खूं रगों में है अगर तो खूं हो कैसा,
    खल्क पर जब गिरे तो खूं कहलाएगा तू!

    बज़्म में बैठे दरिंदे लीलते सन्नाटे यहां,
    शोर कर देगा अगर तो ज़ोर की खाएगा तू!

    हाल है निजाम-ए-मुल्क का मेरे अब ये "शायरा",
    आदमी जब मरेगा ,तब आदमी कहलाएगा तू!
    -शायरा

  • abr_e_shayari 2d

    एक स्नेह पूर्ण कल्पन! जो मात्र कल्पना ही है ����
    थोड़ा अजीब है ना दी ! @anusugandh
    #rachanaprati101

    Read More

    जीवनसाथी❤️

    रात तुम्हारी, आना तुम
    हर बात तुम्हारी, आना तुम,
    जब परियां आने को होंगी,
    उन से पहले भी आना तुम!
    फिर चुपके से सिरहाने पर
    टेक लगा दिवार की तुम,
    सहला देना, बालों को,
    फिर धीरे से खिसका कर सर,
    बालिन पर ही सो जाना तुम!
    जब दफ्तर से आना तुम
    बालिन पर ही सो जाना तुम!
    © श्रुति

  • abr_e_shayari 2d

    कल की हार के बाद ,निराश होने की आवश्यकता नहीं है, बच्चों को भी जीतने का मौका देना चाहिए!

    पेश ए खिदमत है एक बेबहर तस्नीफ , पढ़ के बताए कैसा लगा ����

    Read More

    रोज़ ए इब्तदा से ही महज़ मसला हूं मैं
    शिकस्त ग़म और उल्फत का मामला मेरा

    मेरी एहमियत पर लानत है ,
    "बेगैरती" ही जुमला मेरा!

    कब हुआ यूं की मैं इंसा सी लगूं,
    इस कदर शफा है हुलिया मेरा!

    बर्क हो तो जला जाए , बर्फ़ हो तो जमा जाए,
    ना जाने किस तासीर का है ये कलमा तेरा!
    -शायरा

  • abr_e_shayari 1w

    What if fiction start charging cost?
    But fortunately it don't!
    So faltu soch liya , �� free ka

    Read More

    मैं सर उठा कर जब , भारी पलकें उठाऊं
    तुम झुक कर माथा चूम लिया करना!
    -शायरा

  • abr_e_shayari 1w

    @guftgu sorry sir for messing it up��

    Read More

    Collab

    लड़खड़ा के गुजरे जो मैकदे के सामने से,
    वो पूछते हैं सारा गम पी आए हो क्या ?

    ©guftgu

    जगी आंखें , बिखरे बाल , खुले जूते, रूंआसा दिल
    उसके वलीमे से हो कर आए हो क्या?

    ©शायरा

  • abr_e_shayari 1w

    यूं लह लह बहते कुंतल मेरे,
    प्रियस तुम्हारे स्कंध पे जैसे,
    सलिला कल कल बहती देखो
    महीधर तेरे स्कंध पे जैसे!

    मेहंदी मेरे हाथ की पीली
    हंसता दलहन आषाढ़ का जैसे,
    ऐसा टेसू लगता मुझको,
    माथे सजा सुहाग हो जैसे!

    ये हंसता रितेश, ये गाती पुर्वा
    ये सब तुम बिन शेष हो जैसे,
    तुम संग देखूं तो लगता है,
    शून्य भी अति विनेश हो जैसे!
    -श्रुति
    #rachanaprati97 @mamtapoet

    Read More

    प्रियस

    ममता दी ज्यादा कुछ अच्छा नहीं लिख पाई माफ करीएगा , अगली बार पूरा प्रयास करूंगी

  • abr_e_shayari 2w

    एक शख्स है अक्सर मिलता है , उसी के सट्टे पर है सब कुछ हारे हुए !

    Read More

    छंट छंट कर खुशहाली तेरे हिस्से में हुई
    छंट छंट कर दर्द सभी हमारे हुए

    ये बात उन दिनों की है जब जिंदा थे
    अब तो है जिंदगी के ही मारे हुए!
    -शायरा

  • abr_e_shayari 2w

    मुहब्बत की हिफाजत में अना का मसला बड़ा है!

    Read More

    अना के सजदे हुई मुहब्बत मेरी,
    ना मैं बचा ना बची मुहब्बत मेरी!
    -शायरा

  • abr_e_shayari 2w

    मैंने मौत को बेमौत मरते देखा है!

    Read More

    नजदीक हो कर गुजरते देखा है है!
    मैंने रूह को जिस्म से बिछड़ते देखा है!

    तमाम ख्वाब जो बुने जाते हैं ना रातों में
    मैंने उन कांचों को बिखरते देखा है!
    -शायरा

  • abr_e_shayari 2w

    @shayarana_girl @kalamkaar_sm aise milte raho mera dil khush rahega��

    Read More

    Tumse mil k aisa laga tumse mil k arma hue poore dil k ae meri jaan e jahan
    Shayarana girl or kalamkaar aaj ka din apke naam