Grid View
List View
Reposts
  • a_novice_speaks 21w

    इश्क़ का एक उसूल पुराना होता है...
    कभी कभी यूँ ही मान लेनी होती है
    गलतियां न होने पे भी
    किसी का दिल रखने को,
    टूट न जाये रिश्ते आँधियों में दरख्तों की तरह,
    कभी कभी यूँ ही पौधों की तरह
    झुक जाना होता है।।
    ©a_novice_speaks

  • a_novice_speaks 23w

    दो वक्त रोटी बस क्या नही चाहिए इस बदन को चलाने के लिए,
    दो गज ज़मीन बस क्या काफी नहीं ओढ़ने बिछाने के लिए,
    क्यों हैरान परेशान भागता फिर रहा है ए ज़माने,
    किसी मजलूम की दुआएं क्या काफी नही है कमाने के लिए.

    जिसके कहने से चलते है रात औ दिन...
    उसकी रहमत क्या काफ़ी नही तुझ को चलाने के लिए..
    आजमाईश इंसा की नही, उसके यकीन की होती है,
    यहां वहा,ंइसे उसे क्या ढूंढता है हैरान होकर,
    खुदा क्या काफी नही तेरा साथ निभाने के लिए।
    ©a_novice_speaks

  • a_novice_speaks 30w

    किसी किताब में सिमटा कागज कोरा सा हूँ मैं,
    तेरे बिन आधा अधूरा सा हूँ मैं,
    वो राह जो जाती कहीं नही,
    मंजिल को बस देखती रहती है,
    उस राह सुनसान सा हूँ मैं,
    लाखों चेहरे पहचाने से,
    फिर भी कोई जानता नही...
    भीड़ भरे शहर मैं अनजान सा हूँ मै,
    फूल खिलते है मुरझाते है हज़ारों
    अदद तेरे इन्तेज़ार मे,
    स्याह रातों में जंगल बियाबान सा हूँ मैं,
    लाखों अफ़साने सुने अनसुने,
    नगमे दर्द भरे रोज वही,
    वही पुराने ख़त जो तूने लिखे थे,
    पढ़ता हूँ रोज कई कई बार...
    इस दिल मे अरमान कई बेरंग से है...
    रंग भर दे नए,
    तेरे चेहरे का नूर झलका,
    रोशन ये मेरा जहां करदे,
    कब तलक यूँ मायूस दिल तेरा रास्ता देखे,
    मैंने तेरे नाम लिख दी ये जान अपनी,
    तू मेरे नाम अपना ये जहान लिख दे,
    मेरे जीवन के पन्नो पे कुछ किस्से लिख दे.....
    जो आधे अधूरे से छूटे है वो हिस्से लिख दे।
    ©a_novice_speaks

  • a_novice_speaks 32w

    ये और एक काम तो कर,
    एक और गुनाह चल मेरे नाम लिख दे
    रहे पाक साफ तेरा ये दामन,
    तू अपने गुनाहों का ये इंतेज़ाम तो कर,
    न कोई उंगली उठे तेरी तरफ को,
    चल मुझे थोड़ा और बदनाम तो कर !!
    ©a_novice_speaks

  • a_novice_speaks 32w

    अल सुभह तू मुझे मिलने को आतुर,
    मैंने अपना ये भरम अब तोड़ दिया है,
    तुझे अब फ़ुरसत कहाँ है नए दोस्तों से,
    मैंने तेरे लिए रातों को जगना छोड़ दिया है,
    इंतेज़ार और नही और नही
    तुझे मुबारक नए संग साथी,
    मैंने तेरे इंतेज़ार मे
    राहो को तकना छोड़ दिया है!!
    ©a_novice_speaks

  • a_novice_speaks 37w

    चोर की दाढ़ी मे ही बस तिनका होता है,
    तो बाकी सब क्या साहूकार है,
    क्या जिसके दाढ़ी होती है बस वही चोर होता है,
    या खूब करो चोरी बस पकड़े मत जाओ,
    पकड़े जाने पे ही बस बहुत शोर होता है
    ©a_novice_speaks

  • a_novice_speaks 37w

    अरे नादान दिल क्यों इंतज़ार किसी का,
    किसी को भी अब तेरी जरूरत नहीं है,
    छोड़ो, क्या रूठना किसी से किसी बात पे,
    मनाने की फुरसत यहां किसी को नहीं है!
    बुझ जाए शमा तो नई जला लेते हैं लोग,
    बुझती शमा को बचाने की इंसानी फ़ितरत नही है,
    सुनो, गुल ऐ मोहब्बत कहीं और जाओ,
    उजड़ते चमन को फिर से बसाने की कोशिश करे
    अब इतनी मेहनत की आदत किसी को नही है!
    वो लैला वो मजनू वो फरहाद-शीरी कहाँ ढूंढते हो,
    जो हीरों से भी ना तौली जा पाए,
    ऐसी ख़ालिस मोहब्बत अब किसी दिल मे बसती नही है !!

    ©a_novice_speaks

  • a_novice_speaks 37w

    Reminder for self.

    Read More

    ...
    ©a_novice_speaks

  • a_novice_speaks 37w

    #prashantlm

    #life #dreams

    Only thing stays with you till the last breath is the dream you wish to live happily with and you wish to die for.... #thoughts

    Read More

    Fools and dreamers are only marginally different, fools do nonsensical things unknowingly and dreamers do it with purpose..
    ©a_novice_speaks

  • a_novice_speaks 41w

    ...