Grid View
List View
Reposts
  • _inferno 6w

    Wish you a very happy birthday RIYA��@turquoise_stars / @granite_daisy

    Read More

    Granite Daisy

    I hate bdays nowadays idk y. But it's ur bday today and I can't miss this. First of all, I'm really sorry for not writing a better bday wish coz I'm exhausted already In many ways but I don't wanna ruin this day ( but I think I already did by not writing a bful wish as you're ). I've noticed and observed that you're good as a friend,sister,daughter in every relation just opposite of me nvm. But I'm trying to be a good friend,daughter,sister and a good human being. You shower kindness in every direction and specially you know how to make a person's bday bful by writing bful warm wishes. Your presence matter here for me. Your comments too matter a lot. Your kindness is everything one can ever wish for. Also, you're lucky or special to me as I got my 1st wn repost joki maine tumse inspire hoke likhi thi or EC b tb milne lage but uske baad idk what happen likhna chhod diya ya time nhi mila bas bday wish hi likhi h uske baad to. I adore you a lot as a person and writer both. You're a gem literally. You spread kindness and love everywhere you go.You're an amazing person inside out. I'm really sorry again:) but for sure I'll write for you soon. Also, insta pe bhi exam k baad will text you I remember. Sending more prettier skies, rainbows and many good things on your way. Happy 16. Is umra me agar mujhe dekhe to I was nothing at that time xd. But you're mature, you learn things quickly and more precisely. You're perfect in every direction. Thanks for always checking up on me. I left this id 2 times no one cares but you and Jerry were there for asking me. Thank you for making this place better for me. I love you.
    Best of luck for your studies and patience aur strength kisi chij ki kami to h nhi tum me. Anuv jain k gaane suno or mast raho.

  • _inferno 10w

    Waise khoobiyan to kafi h but The thing which I like the most in you is the way you interact with people (bhale hi new ho), so natural, comforting every lil bit of this. Also, your hindi is pretty good xd mostly jitne bhi south indians se me mili unme sbse achi. I love talking to you, best thing is there is no need of topic for interacting with you, koi bhi topic uthao acha hi lagta h baat krke bas jab tk modi ji tk na pahunch jaye baat krte krte xd. Or kabhi kabhi to aisa lagta h kahi meri bakwaas baate sunke tum bore to nhi ho jati hogi xd.
    Ab koi bhi "ohho" kehta h to tumhari yaad aa jati or ek muskaan bhi sath hi. The songs you shared with me, everytime I listen to them they remind me of you. I never get bored while talking to you. You're sweet, genuine,pure, strong and an amazing person inside out. Stay same always. And thank you for everything.
    I adore you a lot.

    @thunderclap
    HAPPPYYY BIRRRTTHHHDAY AGAIN♥️


    P.s. shaam ka kaha tha raat ho gyi xd sorry. Or na jaane kya likha h maine. Enjoy kro badhia se. Naacho,gaao,khao,piyo, aish kro.
    P.p.s. jyada hangover na ho jaye xd itna dhyaan rkhna.

    Read More

    Sangfroid

    She wears tiara of statin verses,
    Well arranged sonnets near collarbones,
    Twinkling anklets by fusion
    of acrostics.
    She's an empyrean soul
    Handful of lexicons
    And having long raven hair
    With ringlets bewitching
    Viridiscent butterflies of hope
    Surrounding her.
    Balladries rests upon her eyelids,
    Valour is what she has
    For doldrums and nonplussed waves
    A corsage of bent skylines
    And tint of auburns.
    Also a chortle prettier than
    Boulevard sunsets,
    Having a gorgeous smile
    As of cherub and a worded
    Tongue knows how to comfort
    Southern Sierras basking near
    Vintage radio for young skies.

    She's a monostitch and a
    sestet arranged
    On florets of pink daisies.
    A poetic verse
    breathing within withered
    Orchids and dry petals of rose
    With mirthful euphoria.
    Her quill writes
    An epistle having celestial feelings
    And cologne of last lavenders,
    Bout the things we considered
    As tacenda.

  • _inferno 10w

    हाँ, ठीक उसी दिन 28 मार्च को तुम्हारी sonnet पढ़ी थी और मन हुआ कि एक मै भी लिखूँ, एक स्टेन्ज़ा लिखा और तुम्हें भेजा तुमसे सीखने के बाद। तुम्हारा जवाब पढ़कर अच्छा लगा और पूरी करने का सोचा, खैर 30 को लिखी पूरी बीच में होली जो आ गयी थी। तुम्हें भेजने लगे तो डिएक्टिवेट था एकाउंट ही और 2 अप्रैल को जब एक्टिवेट हुआ तो जो बायो लगी थी वो देख काफी परेशान थे इनफैक्ट पहली दफा उठते ही रोये थे। कुछ लोगों से पूछा तुम्हारे बारे में पर किसीको मालूम नहीं था कुछ भी। उम्म.. वेट ही कर सकते थे और करते भी क्या सॉनेट पोस्ट कर दी थी तुम्हें टैग करके। धीरे-धीरे दिन बीत'ते गए और तुम्हारी परेशानी का पता चला समझ नही आया क्या कहना चाहिए तो बस एक लंबा सा msg छोड़ दिया शायद ही किसीको इतना बड़ा कभी भेजा होगा। तुमने पढ़ा भी और रिप्लाई भी दिया। फिर कुछ दिनों बाद तुम्हारा कमेंट आया उस पोस्ट पर हमें अच्छा लगा और लिखने का मोटिवेशन भी मिला।

    फिर तो हम दोनों ही ब्रेक पर रहते थे और अक्सर सेम टाइमिंग पर आते थे। दूसरे एकाउंट का तुम्हारे पता चला, रीड करके कमेंट कर दिया करते थे हम भी दूसरे एकाउंट से। थोड़ी थोड़ी बात हो जाया करती थी और नाम लेने की आदत हो गयी पर एक दिन कमेंट करने गए जब इतने जज़्बात थे इकठ्ठे पोस्ट रिलेटेड तो गलती से नाम ले बैठे और दूसरे अकाउंट का पता चल गया�� हमारे।

    मैंने यूँ तो ज्यादा यात्राएँ नहीं कि हैं पर जितनी भी की हैं उनकी अपनी महत्वता रही है परंतु जब तुम्हारे लिखे हर्फ़ों को पहली दफा पढ़ा था वो भी किसी यात्रा से कम नहीं था, कुछ ऐसे दृश्य तुम्हारी रचनाओं के द्वारा मैंने देखे जो शायद ही असल जिंदगी में कोई उतनी खूबसूरत जगह हो।
    खाली मन में मानों एक साथ सैकड़ो उफान उठ गए हो, या यूँ कहलो की मन की गर कोई जिल्द होती तो वो तुम्हारे शब्दों से परत दर परत खुल रही हो या टाइट हो रही हो समझना कठिन था पर जो कुछ भी था काफी खूबसूरत लगा था हमें। प्रेम से आलिंगन शायद तब पहली दफा हुआ हो हमारा। या यूँ कहलो उस दिन से पहले प्रेम पर विश्वास न था उसे कभी महसूस नहीं किया था।


    Wish you a very happy birthday Devika♥️♥️
    Billie eilish k gaane sunte rho badhiya ek dum or likhte raho✨
    (Abhi isi se kaam chala lo xd)
    @thunderclap

    Read More

    ☠️

    तुम्हें लिख पाना काफी मुश्किल है..
    ठीक उतना ही मुश्किल जैसे...
    जैसे किसी फ़ेवरेट किताब के उन पन्नों से बाहर आना जिनपर आप सबसे ज्यादा ठहरे थे,
    जिनपर तुम्हारे अश्रुओं की छुअन हो, तुम्हारी मुस्कुराहट की महक आज भी ताज़ा हो।
    या प्रेम की परिभाषा को समझना एवं उसे समझाना, या प्रेम को दुबारा से जीना।
    या फिर जैसे कोई एक दफा सुना हुआ संगीत हो, जिसकी धुन सिर्फ याद रह जाती है लिरिक्स से परे,और तुम्हारे मन में घर कर लेती हैं वो। या कोई पेंटिंग जिसकी शुरुआत में तुम्हें डर हो कि ये मुझसे नहीं बन सकता पर अंत में जब सारी डर की डोर एक जुट होती हैं तो वो असीम प्रेम बनकर उभरती हैं।
    या फिर वो दराज में से पुराने ख़त पर उंगलियां फेर पाना और कलम की छाप को महसूस करना,
    ठीक उतना ही मुश्किल है उन्हें एक दफा पढ़ना।
    ©_inferno

  • _inferno 10w

    Dear Jerry,

    4 months ho chuke hume mile hue, kuch khaas hua nhi tha jab 1st time mile the,randomly! Bruno ko lekar pyaar or wo post♥️
    Fir ig pr anime ki website ko lekar thodi baat hui. Thodi baat rozana ho jati thi or ek din maine kareeb 9 bje msg kiya "belated good eve" krke coz mujhe baat krni thi, tumne kaha belated good eve but what's this?�� Aaj b hasi aa jati h is scene ko yaad krke.

    You used to be one of my fav writer here( abhi bhi ho and as a person bhi)main reason ye tha ki you write emotions without using any fancy words(ye sbse alag baat thi yaha).I miss reading you here. Or break pr sbse jyada jane ka award to dena pdega tumhe �� pr achi hi baat h dekhe to coz you write when you're on break. Jerry naam ya uski koi b pic aati h to tumhara naam or chehra bhi turant yaad aa jata h. Or hasne ki jo aadat h kabhi mat badalna��.You're an amazing person inside out. Too kind, pure, hilarious and savage all qualities��. I love youu��. One of the best person I met on mirakee.

    Anime wali wo post or din yaad rhega hume��
    Jldi se jaldi tum foreign chale jao or apna sapna pura kro ��.
    Isse jyada nhi bolenge kal meri b exam h so.
    Punjabi wali poem tumhe kaha tha likhungi tumhare bday pr wo h but shayad utni achi nhi kyunki may se kuch nhi likha maine.
    Good luck!
    Hope you'll be back someday.
    HAPPY BIRTHDAY JAZZ��♥️
    @jerry_21

    I wanted to write something good but ended like this.

    changi-velli si ik kudi, gal gal utte hasdi si,
    Aasmaan-e-ishq di khubsurti shabdan to dasdi si!

    Jado sanjh sawere da fark me bhulgi si,
    Te ohdi saahan'ch ajj v ishq di khushbu ruldi si!

    Jithe ohde kadama pad'de ne,
    sukhe phula'cho firdaus'di mehak aaundi ae,
    Parande, surme, juti, patiala peg di lod ni,
    momo di chatni, anime te harf'aan naal oh yari laundi ae!

    Neel gagan kilkari maare ohnu jado suraj dhalda ae,
    Hove roshan ghar mirakee da jado Jerry naam da diva ithe balda ae!

    Read More

    Jazz

    She's having a marmoris face with Elysian eyes,
    Her quill daubs every single forelsket verses,
    Blueberry lips, heart of gold and ardor for skies.
    Cobwebs of sweven thoughts embracing her bruises,

    She's an arcane angel in a human's disguise,
    Touch of serene sunflower, hymn of halcyon,
    Blue Heather's soul, starry night of fireflies,
    Her smile is an aubade for cimmerian corner of forlorn.

    She lives where the sun rise-and-sets,
    Sings along passing wind with zeal,
    Broad shoulder where hope rests,
    Braids with strength and leal.

    An old epistle of joyous tales having ambrosial petrichor,
    Laconic eyes, deep, coruscating as of Orion nebula,
    Eyelids holding apricity with polaroid of sky as of crour,
    Her poems, a latibule for many, giving jade vines aura.
    ©_inferno

  • _inferno 20w

    हमारे अस्तित्व के बारे में हमें नहीं पता। मगर तुम्हारी इक छोटी सी छोटी बात मेरे दिल के एक कोने में गूंजती हुई मेरे कानों में समाती है। इससे अपने आप ही होंठ खिलखिला उठते हैं और आंखों के सामने धुंधलापन छाने लगता है, लेकिन तुम घबराओ नहीं तुम्हारी छवि साफ दिखाई पड़ती है। आज साफ-सफाई कर रही थी, घर तो साफ हो गया मगर तुम्हारी कमी खल रही है इसलिए चमक नहीं रहा।घर के जाले तो आसानी से साफ हो गए मगर दिल में जो लगे हैं उन्हें साफ करने का मन नहीं, साफ करें भी तो कैसे तुम्हारी याद जो दिलाते रहते हैं, हमारे ज़िंदा रहने के लिए काफी आवश्यक है न।

    तुम काफी दूर चले गए शायद इतना कि हम दुबारा कभी मिल न पाए परन्तु तुम्हारी वो आखिरी मुस्कान रोज़ नज़रों के सामने से गुजरती है और तुम्हारे होने का एहसास दिलाती है जब भी हम खुद को आईने में टटोलते हैं तब। अगर दिल हमारा कोई गार्डन है तो हम उसमें एक ही तरह के फूलों को पानी देते हैं जो तुम हमारे लिए हमारी पहली डेट पर लेकर आए थे, तुम्हारे छुअन की महक आज तक उन्ही फूलों में कैद है। खैर हम खुदसे कभी वो डेट याद करना नहीं चाहते कितने पागल थे हम भी उस टाइम मगर जब तुम्हारे होंठ उस दिन को याद करते वक़्त खिलखिला उठते हैं और तुम्हारी आँखों में उस वक़्त जो चमक आती है वो तुम्हारी आँखों मे खो जाने से मना करती है हमें। और हम उठ जाने का ट्राय करते हैं वहाँ से ठीक उसी तरह जैसे हर मुसीबत से भागते आए हैं। मगर तुम हाथ पकड़ कर हर बार रोक लेते हो हमें और अपनी गोद में बैठाकर वो कहानी दोहराते हो। बेशक हम उसे 1000वी बार सुनते अगर तुम अभी साथ होते परन्तु फील एकदम वही पहली दफा वाली आती है और हम हमेशा की तरह शर्मा जाते हैं। हमें नॉवेल पढ़ना काफी पसंद है पर जब तुम हमारी ये स्टोरी सुनाते हो तब हम मौन हो जाते हैं कुछ टाइम के लिए,और नॉवेल पढ़ने से भी ज्यादा फील कर पाते हैं हम तुम्हारे हर्फ़ों को।

    Read More



    हम जितना इन सब चीज़ों से दूर भागते हैं, उतना ही करीब आ जाते हैं, अगर हम तुमसे दूर जाना चाहते तो अच्छा होता शायद इसी तरह हम और करीब आ जाते। तुम्हें क्या लगता है? बताना ज़रूर जब कभी सूरज ढलते अपनी बालकनी से समुद्र में समाते देखो जब एक दफा सोचना इस बारे में।उस लम्हें को कैद कर लेना अपनी आंखों में कुछ इस तरह की कभी हम अजनबी बन दुबारा कभी मिले तो ये लम्हें में खोकर एक दफा तुम्हें पा ले। एक बात और क्या ये लालिमा तुम्हें हमारी उस साड़ी की याद दिलाती है जो तुम्हारी अम्मा ने हमे दी थी पहली बार जब हम डिनर करने तुम्हारे घर आए थे? हमें अधूरी चीज़े छोड़ने की आदत है ये तुम जानते थे, अम्मा नहीं। हमने खाना थोड़ा छोड़ दिया था कटहल जो बना था, हाँ हाँ जानते हैं तुम्हारा फ़ेवरेट है पर फिर भी अधूरा छोड़ दिए। पर अम्मा ने भी डायरेक्टली हाँ नहीं भरी थी हमारे रिश्ते के लिए बल्कि कहा था, आज से तुम भी आदत डाल लो इसकी पसन्द को अपना बना लो। मगर न जाने ऐसा क्या हुआ रिश्ते की डोर में बंधने से पहले, हमारे रिश्ते के धागे टूटे तो नहीं लेकिन एक साथ बंधे भी नहीं।

    अब भी इस उम्मीद में जिंदा है कि एक दफा और मुलाक़ात हो जाए, अजनबी बन कर ही सही। लेकिन हो जाए। फिर मिलेंगें उसी मेट्रो स्टेशन पर शायद जहाँ पहली और आखिरी बार मिले थे, याद है न तुम्हें?
    ©_inferno

  • _inferno 20w

    गर उल्फ़त का कोई चेहरा होता, बेशक तुम सा होता,
    मुहब्बत की देखी रुसवाई, किसी पर दिल हारती कभी तो वो तुम्हारी तबस्सुम सा होता।

    तुम्हारी रचनाओं में आशियाना न खोजती कभी,
    तो वही ज़िन्दगी की उलझी गालियों में, मै भी गुम सा होता।

    जुगनू जले है कई आज कि उनसे ज्यादा कोई जगमगा रहा,
    चाँद छुपा बादलों में, कि आसमाँ में तेरे जैसा कोई अंजुम सा होता।

    अधूरे शेर और बिखरे जज़्बात लिए फिरती हूं,
    कि लिखूँ कोई ग़ज़ल पूरी, गर साथ तेरा तरन्नुम सा होता।

    ~Aarti

    @fairytales_ Last but not the least... Again wish you a very happy birthday jelsa♥️
    Ek adhuri gazal or ek puri pardon me ek adhuri jo reh gyi uske liye...

    Note -
    Tabassum - smile
    Anjum - star
    Tarannum - rhythm, music
    Takallum - baat chit
    Rubaab- aashirwaad
    Mehtaab - moon
    Aab - water
    Ahbaab - friend
    Aaftaab - suraj

    Read More

    Jelly bean

    जहाँ कहीं मैं भटक जाऊ, आगे बढ़ाता वो रुबाब आप हो,
    गर उल्फ़त को मै चेहरा दे दूं, वो मेहताब आप हो।

    आँखों के काले घेरों से लेकर किताबें खूब पढ़ ली है,
    मगर पसंदीदा वाली वो है, जिसमे रखा गुलाब आप हो।

    गलतियाँ बेशक खूब हुई है, उनकी क्या मैं गिनती करू,
    मगर जितनी दफा तबस्सुम आयी मेरे चेहरे, वो हिसाब आप हो।

    भाग दौड़ में थक चुकी हूँ मैं भी, की शीतलता को ढूंढ रही,
    रुसवाई की लगी कोई आग हो, उसको शांत करता आब आप हो।

    मयखाने होंगे कई, शाम की हवा भी देती मदहोशी, मगर सुकून भरी
    तकल्लुम करू मैं जिससे बेझिझक वो अहबाब आप हो।

    मेहताब खूबसूरत होगा काफी, सराहना जिसकी करते सभी,
    मगर जिसकी किरणे मेरे दिल को छूती, वो आफताब आप हो।

    ©_inferno

  • _inferno 20w

    आम सी थी ज़िन्दगी काफी हमारी, सवेरे तो कई देखे मगर उल्फ़त थी हमें रातों से मुलाक़ात की। कभी विश्वास नहीं होता था जब कोई दो नग्में प्यार के या बेवफाई के सुनाता था। महज़ लफ्ज़ ही नज़र आते थे उनके किस्सों में। परन्तु एक दिन कुछ हर्फ़, कुछ जज़्बात, कुछ अधूरी कहानी मानों मेरे दिल के एक अधूरे कोने को पूरा करती नज़र आई, मानो लगा नफरत के बाज़ार में भी कोई प्यार की छाप छोड़ सकता है। रोज़ उन हर्फ़ों में खुदको खोकर, खुदको ही पाया करते थे, जिस तरह वेद तमाशा मूवी में उस बाबा के पास वो कहानी सुनने जाता था उसी तरह हम मिरकी की इन गलियों में उनके वन लाइनर्स पढ़ने आ जाते थे। ठीक उसी तरह जिस तरह बाबा ने कहा था, कहानी वही होती है बस किरदार बदल जाते हैं, वैसे ही उनकी कहानी में हम अपना किरदार ढूंढ लेते थे।

    हम पढ़ते गए और दुनिया से एक अलग एस्केप मिल गया था हमें। न जाने कब बात हुई हमारी, हाँ ऐसी कोई खास बात नहीं हुई कभी पर एक दोस्ती का रिश्ता तो बुन चुका था, हैं न? यूँ तो हमारे दोस्त हैं नहीं खास, पर जब तुम कहती हो टेक केअर ऑफ योरसेल्फ जब अपनापन सा लगता है। सुनकर अच्छा लगा कि कोई दूसरे देश से होकर भी किसी का इतना ख्याल रख सकता है जितना तुम रखती हो। तुम्हारे बारे में ज्यादा तो कुछ हमें नहीं पता, पर दिल से काफी अच्छी हो तुम जैसा कि तुम्हारा यूज़रनेम सजेस्ट करता है तुम सचमें एक फैरी हो। तुम वो डोर हो जिसने कई बिखरे मोतियों को सजो के रखा है, एक प्यार की डोर।

    ज्यादा कुछ नहीं कहेंगे बस जहाँ भी रहो सलामत रहो यही दुआ है हमारी। दुनिया की सारी खुशियाँ तुम्हें मिले, इन आँखों मे जितने भी सपने हैं वो साकार हो। बस यूँही सदा खिलखिलाती रहो, कभी गम की धूप न लगे तुम्हें।

    Wish you a very happy birthday jelsa!��✨����������������
    Pardon me for the late wish kl raat ko hi pta chala aaj aapka bday h or subah se vaccination centre pr the to jyada khaas nhi likh paye..
    Or english me to writer's block ho rkha h xd or hindi b khaas aati nhi so bear with me. I adore you so much.
    @fairytales_

    P.s. bg k liye bhi sorry pta nhi kya glitch aa rkha h bg or dp dono hi nhi lag pa rhi kai dino se one of the reason ki hum nhi likh rhe...

    Read More

    Jelsa

    गम की धूप हो कभी,
    बारिश बन बरस जाती है,
    धुंधला जाए जब ये समां,
    सूरज की किरण बन वो नज़र आती है।

    हे रब!!
    काँटे बस उसकी जिंदगी
    से मिटा देना,
    फूल हम बिछा देंगें,
    गम आए गर कभी
    तो आप उसे हँसा देना।

    ज़िन्दगी कभी जो रूठे उससे,
    आप उसे मना लेना,
    आज का दिन तो कई मनाएँगे,
    आप उसका हर दिन बना देना।
    ©_inferno

  • _inferno 21w

    To,
    Ssssneha��
    @squared

    I remembered when we met here first time on 1st week of April on devika's post. And that "le ja le ja...." incident happened.
    The way you called me "Didi" na na respect wala nhi �� wo meme wala ... provide me a leap from this unwanted world. We can talk for hours without having a proper reason it's the best thing I think between us. I adore you so much, it's a different thing I never convey this to you. But really I do. Few days before, I told you that "You are cute" after seeing those pics you sent to me. But you said cute to bache hote h. Maan le kabhi kabhi apan b ho skte h, okay? N few days ago only, you proved that I was right, hain na?( I hope you got it ). Idk me aage kya kahu kafi kuch h kehne ko but kaha se shuru karu kaha khatm asmanjas h to mafi ��.

    Happy Birthday!! ������������������
    Enjoy your day. Ik bday wishes jyada psnd nhi tujhe but fir b rakh le isko����
    Again, I adore you, love you!!
    The most genuine person I've met here!
    Stay as you are, never change.

    P.s. Jo b wish kre sneha ko agar reply na aaye to bura na maane ��

    Read More

    Sneha

    Sonnet having lexicons of stardust.
    The power, energy, hopenotes
    You receive from those
    5 little corners of
    your home(star).
    The wind carrying the
    aroma through ur hair.
    Love for those stars
    which shines a little
    less allowed you to
    see the light silently
    glowing in other
    person's eyes.

    Wherever the bird upon
    your palm roams in the
    fields of blues, you leave
    Some lavenders, lend
    some colours from
    Van Gogh's sky to them
    creating a little fields
    of "home".
    Gazing those stars
    unfurl into deeper
    hues of blues which indicate
    the end of one another
    day but your twinkling
    dusts of shimmering
    galactic blast eyes told
    me the real exact definition
    of happiness n self love.
    I embrace the peace of your
    words which made me leap
    into its angelic gloom.

    My blacken withered lips
    forming chains n rings
    As the stardust roaming
    In the murky sky,
    your words or presence
    radiate brighter than firefly.

    ~Yours Didi/Granny

  • _inferno 23w

    7 may 2021
    @fromwitchpen jhel lo ��. #temp

    Lines in btwn // are dialogues from movie tamasha

    Napalm-highly flammable sticky jelly used in incendiary bombs and flame-throwers, consisting of petrol thickened with special soaps.
    Nemesis - enemies since longtime like voldemort and harry.

    @writersnetwork

    Read More

    Dregs of "You"

    /किसे चाहिए मन का सोना? आँख के मोती? किसे पड़ी है अंदर क्या है?/

    It's true you aren't here,
    But I'm not alone darlin' some
    trails of stardust
    from broken stars, redolent
    syllables you once used for me,
    last quill resurrecting touch of
    your fingertips and some
    murmuring waves with their zephyr
    touch ambushing me daily.
    Remember that lighthouse where
    you screamed "I love you" and
    some other alphabets which are
    dispersed now.

    A broken tapestry you gifted
    me on my last birthday
    is still hanging on
    The ceiling just like a smile
    On my shattered lips.
    Finding my abode in between
    Lost skylines and splintered
    Horizons again. 9 to 5 job
    was my last alive nightmare.
    Living again like a kid,
    Where no one is gonna stop me
    Is the reason I'm alive.
    You broke 4 chambers of an
    Adult but gifted me unloved kid
    Again. Thank you!!
    Now, revolting poems having
    title "nothing" make some meaning
    I guess.
    Surviving betwixt words of endearment
    Of boulevard sunsets and some lost
    Cotton candy clouds which lost
    Their way in satin towns.

    /बचपन कहता है मै स्पेशल हूँ पर उसको तो मैंने कुचल दिया/

    I wasn't hungry,
    But feeded by some
    Broken promises, some
    Lies clutched onto "I will
    Stay", an incomplete epistle
    Meandering by the wavy winds,
    Reached near a house having
    Tinkling noisy windchimes near
    Gate having oblivion for all those
    Who had enter once.

    You know, now remnants of "I"
    and dregs of "you" are nemesis.
    Since you left me,
    Those verses which we used
    to sing along became pragmatic
    my taste buds are dead leaving the
    redolent taste of your napalm
    kiss under
    the Stygian sky.

    /एक दिन पता चला था santa clause नहीं होता. बहुत बुरा लगा था। पर क्या करें होता नहीं है, ये लव, सोलमेट्स ऐसा कुछ नहीं होता/

    You know, now remnants of "I"
    and dregs of "you" are nemesis.
    Since you left me,
    Those verses which we used
    to sing along became pragmatic
    my taste buds are dead leaving the
    redolent taste of your napalm
    kiss under
    the Stygian sky.
    ©_inferno

  • _inferno 23w

    3 May 2021 , 4:35pm

    #rainbow #wod
    @writersnetwork Thank you for the ♥️ and EC ��

    Read More

    YOU

    Crossing all the boundaries
    between us for making phrases
    Out of broken quills,
    Seeking elation strolling
    Between the streets of last
    Epistle you wrote for me
    Just to stitch my splintered
    Horizon.
    Gazing how you carry those
    bent skylines on your sleeves
    of your obtrusive yesterday
    Making your revolting tomorrow
    Widened it's lips.

    I asked you to describe "Rainbow",
    You told that it has words of
    Endearment and the power
    to eradicate your way to despair,
    sharing an abode to only amiable
    thoughts inside your medulla.
    Twiddling the thumbs,
    In short it is an infallible realm
    Of doldrums cursing the tint of
    Auburn, also ruining the splash
    Of tangerine.

    I stole some shades from
    the last rainbow we shared ,
    Some colours from Van Gogh's
    Sky, some broken syllables
    From Shakespearean sonnet,
    Some lost cologne of last
    Lavenders just to portray
    "YOU".

    We share same sky as a roof
    But caressed by its different
    Shades. Not everyone
    Has the same rainbow lending
    Some paroxysms of
    their blues. Shades of rainbows
    are temporary plus not every
    Rainbow is meant to fit into
    Our sky. We have to make our
    Own SKIES. Some of them make
    Your heart cherish, some make
    You delibitate enough snatching
    All your breathes so that you write
    Some metaphors to breathe within.
    ©_inferno