Grid View
List View
Reposts
  • _dipps_ 89w

    शे'र

    चीखती है रूह पर आवाज़ नहीं होती
    खुदा से उसके सिवा परवाज़ नहीं होती
    ©_dipps_

  • _dipps_ 89w

    Two liner

    जिंदगी का दीदार भी बड़ा अजीब रहता है
    कौन कहता है किरदार इसका सरीफ रहता है
    ©_dipps_

  • _dipps_ 90w

    Two liner

    मुकम्मल ख्वाब तू दिल की आवाज तू
    खुदा से जो मांगू वहीं एक परवाज़ तू
    ©_dipps_

  • _dipps_ 91w

    शे'र

    सिकायते कम हो दिल में गम हो
    तेरी याद आए और आंखें नम हो
    ©_dipps_

  • _dipps_ 91w

    Two liner

    महक का एहसास मिला मुझको अपने ही लिबास से

    सूखा फूल भी खिला तो जैसे पुरानी कोई किताब से
    ©_dipps_

  • _dipps_ 93w

    शे'र

    उस दिन हर गाँव मे शोर होता है
    जिस दिन आभ मे मेघ घनघोर होता हैं
    ©labjjjjj

  • _dipps_ 94w

    कान्हा

    जो करती अगर सिर्फ़ नज़रे ही बया तो ये कहानी ना होती
    अगर रुक्मिणी ही थी कान्हा की, तो राधा दीवानी ना होती
    ©labjjjjj

  • _dipps_ 95w

    गरीब

    कभी खिलौने बेचे तो कभी खुद खिलौना बन गए!!
    कुदरत के खेल के आगे, इस कदर मजबूर हो गए!!
    ©labjjjjj

  • _dipps_ 95w

    शे'र

    मेरे हर एक शब्द मे जिंदगी की अरदास झलकती हैं!!
    मैं घनघोर बादल तो नहीं हूँ पर मेरी आँखें बरसती हैं!!
    ©labjjjjj

  • _dipps_ 95w

    Two liner

    जुबा पर ख़ामोशी और आँखों मे गहराई अच्छी नहीं लगती!!
    अँधेरों मे साथ परछाई हो, बात यह कुछ सच्ची नहीं लगती!!
    ©labjjjjj